संदिग्ध बीमारी की चपेट में आने से पिता पुत्र सहित चार की मौत, कई हुए बीमार

संदिग्ध बीमारी की चपेट में आने से पिता पुत्र सहित चार की मौत, कई हुए बीमार
Illness

Abhishek Gupta | Updated: 12 Oct 2019, 10:28:50 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

विकास क्षेत्र जमुनहा के रामपुर गांव में करीब एक माह से फैली संदिग्ध बीमारी से अबतक पिता पुत्र सहित अबतक चार लोगों की मौत हो चुकी है।

श्रावस्ती. विकास क्षेत्र जमुनहा के रामपुर गांव में करीब एक माह से फैली संदिग्ध बीमारी से अबतक पिता पुत्र सहित अबतक चार लोगों की मौत हो चुकी है। तथा कई लोग बीमार चल रहे हैं। जिनमें से दो लोगों को सीएचसी मल्हीपुर में भर्ती भी कराया गया है। वहीं इस बीमारी से गांव में दहशत का माहौल बना हुआ है। ग्राम प्रधान ने उच्चाधिकारियों से गांव में फैली इस संदिग्ध बीमारी की शिकायत की थी। वहीं मीडिया में खबर आने के बाद स्वास्थ्य महकमे हरकत में आया और आज स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव में पहुँची। जहां टीम द्वारा मरीजों की जांच की गई व सैम्पल भी लिए गए।

स्वास्थ्य विभाग ने नहीं लिया संज्ञान-

जमुनहा विकास क्षेत्र के रामपुर गांव में करीब एक माह से एक संदिग्ध बीमारी फैली हुई है। जिसकी चपेट में आने से अबतक चार लोगों की मौत हो चुकी है। एक माह पूर्व जय पत्तर तिवारी (60) पुत्र देवी बख्स तिवारी और इनके बेटे प्रदीप कुमार तिवारी की इसी संदिग्ध बीमारी से मौत हो चुकी है। जबकि दो दिन पूर्व गांव के ही जुड़ई (65) पुत्र रामसुधि इस बीमारी की चपेट में आ गए। जिन्हें परिजन इलाज के लिए अस्पताल ले जा रहे थे, लेकिन रास्ते में ही मौत हो गयी। इसी प्रकार शुक्रवार को एक नवजात शिशु दुर्गादीन पुत्र राजू भी इस बीमारी की चपेट में आ गया। और उसकी भी मौत हो गई। वहीं जनेश्वर (30) पुत्र राम सूरत , गोलू (20) पुत्र साधू राम , सतीश (15) पुत्र प्रदीप, राजू (24) पुत्र सत्तन, सुनील (6) पुत्र मुन्नीलाल, ऊषा (38) पत्नी लल्लू , जुगरती देवी सहित जुड़ई की पुत्र वधू शांति देवी पत्नी नंदलाल भी बीमारी की चपेट में आ गए। यह संदिग्ध बीमारी करीब एक माह से गांव में फैली है, मगर स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोई भी टीम गांव में नही भेजी गई।

पीजीआई भेजा गया सैंपल-

वहीं गांव में फैल रही इस संदिग्ध बीमारी को लेकर ग्राम प्रधान अब्दुल्ला खान द्वारा उच्चाधिकारियों से शिकायत के बाद और मीडिया में खबर फैलने के बाद स्वास्थ्य महकमा हरकत में आया और जमुनहा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र प्रभारी डॉ सुमन व चिकित्सक रविन्द्र सोनकर की अगुवाई में एक टीम गांव में पहुँची। जिन्हें गांव वालों ने बताया कि इसके पहले एक माह पूर्व 6 सितम्बर को इसी संदिग्ध बीमारी से जयपत्तर तिवारी (60) पुत्र देवी बख्स की व उनके पुत्र प्रदीप तिवारी की 13 सितम्बर को मौत हो चुकी है।

यह मानी जा रही संभावित वजह-

लोगों की मानें, तो मौत की वजह गला रुंधने की बीमारी होना कहा जा रहा है। पर चिकित्सक अभी मौत का कारण स्पष्ट नहीं कर पा रहे हैं। जमुनहा के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी डॉ सुमन ने बताया कि पीड़ित व्यक्ति का लार पीजीआई भेजा जाएगा। जिसके बाद ही बीमारी स्पष्ट हो पाएगी।

वहीं इस संबंध में सीएमओ वीके सिंह बताते हैं कि गांव में टीम भेजी गई है। पीड़ितों का सैम्पल लेकर जांच के लिए भेजा जा रहा है। रिपोर्ट आने के बाद ही बीमारी स्पष्ट हो पाएगी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned