scriptFree Electricity Can Be Given to Farmers before UP Assemby Elections | किसानों को मुफ्त बिजली का तोहफा दे सकती है यूपी सरकार, उपभोक्ता परिषद ने की इस फॉर्मूले की पेशकश | Patrika News

किसानों को मुफ्त बिजली का तोहफा दे सकती है यूपी सरकार, उपभोक्ता परिषद ने की इस फॉर्मूले की पेशकश

उत्तर प्रदेश राज्य के किसानों को योगी सरकार मुफ्त बिजली का तोहफा दे सकती है। राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद का कहना है कि कुछ राज्यों की तरह यूपी में भी किसानों को आसानी से मुफ्त बिजली उपलब्ध कराई जा सकती है। अगर किसानों को बिजली की यह राहत मिलती है तो राज्य सरकार को उन्हें 2000 करोड़ रुपये की अतिरिक्त सब्सिडी देनी होगी।

लखनऊ

Published: January 05, 2022 01:11:44 pm

लखनऊ. उत्तर प्रदेश राज्य के किसानों को योगी सरकार मुफ्त बिजली का तोहफा दे सकती है। राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद का कहना है कि कुछ राज्यों की तरह यूपी में भी किसानों को आसानी से मुफ्त बिजली उपलब्ध कराई जा सकती है। अगर किसानों को बिजली की यह राहत मिलती है तो राज्य सरकार को उन्हें 2000 करोड़ रुपये की अतिरिक्त सब्सिडी देनी होगी। उपभोक्ता परिषद ने किसानों को मुफ्त बिजली देने के लिए सरकार को फॉर्मूला देने की पेशकश भी की गई है। चुनाव के नजदीक आते ही मुफ्त और सस्ती बिजली की सियासत तेज हो गई है।
Free Electricity Can Be Given to Farmers before UP Assemby Elections
Free Electricity Can Be Given to Farmers before UP Assemby Elections
प्रति यूनिट बिजली

वर्मा ने कहा कि कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, पंजाब, तमिलनाडु और तेलंगाना में किसानों को मुफ्त बिजली दी जा रही है। दूसरी तरह यूपी में ग्रामीण क्षेत्र में अनमीटर्ड किसानों की दर 170 रुपये प्रति हॉर्स पावर है। रुपये प्रति हॉर्स पावर और विद्युत में छह रुपये प्रति यूनिट है। कुल 13,16,399 निजी नलकूप उपभोक्ता मीटर्ड की 70 रुपये प्रति हॉर्स पावर व विद्युत मूल्य दो रुपये प्रति यूनिट है। वहीं शहरी क्षेत्रों में यह 130 हैं।
यह भी पढ़ें

इलाहाबाद विश्वविद्यालय: सीएम योगी पर टिप्पणी को लेकर मुस्लिम छात्रावास और हॉलैंड हॉल के छात्रों के बीच विवाद

2000 करोड़ की अतिरिक्त सब्सिडी

घरेलू उपभोक्ता और किसानों को रियायती बिजली देने के लिए राज्य सरकार 11 हजार करोड़ की सब्सिडी देती है। किसानों को मुफ्त बिजली देने पर राज्य सरकार को उन्हें 2000 करोड़ रुपये की अतिरिक्त सब्सिडी देनी होगी। वर्मा ने कहा कि अगर वर्तमान में सरकार द्वारा उत्पादन इकाइयों के बकाये पर लगने वाले विलंब भुगतान सरचार्ज को 18 से घटाकर 12 प्रतिशत तक कर दिया जाए, तो इससे 700 से 800 करोड़ की बचत हो सकती है। साथ ही महंगी बिजली खरीद पर पाबंदी लगाकर 1000 करोड़ रुपये बचाए जा सकते हैं। वर्मा ने कहा कि सरकार चाहे तो परिषद इसका विस्तृत फॉर्मूला देने को तैयार है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

India-Central Asia Summit: सुरक्षा और स्थिरता के लिए सहयोग जरूरी, भारत-मध्य एशिया समिट में बोले पीएम मोदीAir India : 69 साल बाद फिर TATA के हाथ में एयर इंडिया की कमानयूपी चुनाव से रीवा का बम टाइमर कनेक्शननागालैंड में AFSPA कानून को खत्म करने पर विचार कर रही केंद्र सरकारजिनके नाम से ही कांपते थे आतंकी, जानिए कौन थे शहीद बाबू राम जिन्हें मिला अशोक चक्रUP assembly elections 2022: अखिलेश के वादाखिलाफी पर फूट-फूट कर रोई पूर्व मंत्री की पत्नी शमा वसीम, सपा पर भारी पड़ सकता है आंसूWeather News- दो दिन बाद मिलेगी सर्दी से राहत, तापमान में होगी बढ़ोतरीस्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- अभी कोरोना का खतरा बरकरार, 11 राज्यों में 50 हजार से ज्यादा एक्टिव केस, संक्रमण दर 17.75 फीसदी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.