Ganesh Chaturthi 2021: जानिए शुभ मुहूर्त, गणपति विसर्जन की तिथि और भगवान गणेश की पूजा करने के तरीके

Ganesh Chaturthi 2021 Significance Puja Vidhi Importance- हरतालिका तीज के अगले दिन से गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi) की शुरुआत होगी है। गणेश चतुर्थी भाद्रपद यानी कि भादो मास की शुक्ल पक्ष को आरंभ होता है। इस दिन भगवान शिव और माता पार्वती के प्रिय पुत्र की विशेष पूजा की जाती है। भगवान गणेश को शास्त्रों में बुद्धि का दाता बताया गया है।

By: Karishma Lalwani

Updated: 10 Sep 2021, 07:52 AM IST

लखनऊ. Ganesh Chaturthi 2021 Significance Puja Vidhi Importance. हरतालिका तीज के अगले दिन से गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi) की शुरुआत होगी है। गणेश चतुर्थी भाद्रपद यानी कि भादो मास की शुक्ल पक्ष को आरंभ होता है। इस दिन भगवान शिव और माता पार्वती के प्रिय पुत्र की विशेष पूजा की जाती है। भगवान गणेश को शास्त्रों में बुद्धि का दाता बताया गया है। इस दिन विधि पूर्वक गणेश जी की पूजा करना लाभकारी माना गया है। यह पर्व पूरे 10 दिनों तक चलता है। इस साल गणेश चतुर्थी 10 सितंबर से शुरू हो रही है। 19 सितंबर अनंत चतुर्दशी के दिन इसका समापन होगा जिसे गणेश विसर्जन कहा जाता है।मान्यता है कि गणेश जी की स्थापना विधि पूर्वक करनी चाहिए और 10 दिनों तक विशेष पूजा-अर्चना करनी चाहिए।

शुभ मुहूर्त

- मध्याह्न गणेश पूजा मुहूर्त- प्रातः 11:03 से दोपहर 01:32 बजे तक

- चतुर्थी तिथि शुरू- 10 सितंबर 2021, को दोपहर 12:18 बजे

- चतुर्थी तिथि समाप्त- 10 सितंबर 2021, को रात 09:57 बजे

- गणेश महोत्सव आरंभ- 10 सितंबर, 2021

- गणेश महोत्सव समापन- 19 सितंबर, 2021

- गणेश विसर्जन- 19 सितंबर 2021, रविवार

गणेश चतुर्थी व्रत पूजन विधि

- सुबह जल्दी उठकर स्नान कर लें।

- तांबे या मिट्टी की गणेश जी की प्रतिमा लें। एक कलश में जल भरें और उसके मुख को कपड़े से बांधकर गणेश जी की स्थापना करें।

- गणेश भगवान को सिंदूर, दूध, घी और 21 मोदक चढ़ाकर उनकी पूजा करें।

- ध्यान रखें की गणेश जी की पूजा में तुलसी के पत्तों का इस्तेमाल नहीं किया जाता है।

- गणेश पूजन में गणेश जी की परिक्रमा करने का भी विधान है।

ये भी पढ़ें: शुरू हो गया उत्सवों का महीना अगस्त, जन्माष्टमी, रक्षाबंधन, कजरी तीज सहित इस माह पड़ेंगे ये प्रमुख त्योहार

ये भी पढ़ें: अखंड सौभाग्य के लिए महिलाएं रखती हैं हरियाली तीज का व्रत, जानिये शुभ मुहूर्त समेत व्रत की विधि

Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned