हो जाइए तैयार, नए साल में होंगी 50 हज़ार सहायक शिक्षकों की भर्ती, विधान सभा चुनाव से पहले मिल जाएगा नियुक्ति पत्र

  • भर्ती की शर्तों से लेकर TET परीक्षा तक, सब कुछ पढ़िए इस ख़बर में

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

लखनऊ. अगर आप की तमन्ना शिक्षक बनने की है तो खुश हो जाइये। यूपी में आने वाले साल 2021 में शिक्षकों की बम्पर भर्ती की तैयारी है। करीब 50 हजार सहायक शिक्षकों की भर्ती हो सकती है। इतना ही नहीं यूपी विधानसभा चुनाव से पहले इन्हें नियुक्ति पत्र देकर ज्वाइनिंग भी कराने की बात कही जा रही है। हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने भी 69000 सहायक शिक्षकों की भर्ती मामले में यूपी सरकार के फैसले पर मुहर लगा दी है। इसके बाद अब इसमें बाकी बचे 37 हजार पदों पर भर्ती प्रक्रिया भी जल्द ही शुरू हो जाएगी। यूपी के सीएम ने भी सुप्रीम कोर्ट के इस निर्णय स्वागत किया है। यूपी के शिक्षा राज्यमंत्री सतीश द्विवेदी ने भी कहा है कि अब 69 हजार सहायक अध्यापकों की नियुक्ति का रास्ता साफ हो गया है। बाकी बचे पदों पर भर्ती की प्रक्रिया जल्द ही पूरी कर ली जाएगी।


यूपी सरकार के पास अभी 50 हजार पद हैं और हर साल 10 हजार लोग रिटायर हो रहे हैं। ऐसे में अगले वर्ष 50 हजार शिक्षकों की भर्ती किये जाने की पूरी तैयारी है। इन लोगों को समय से नियुक्ति पत्र भी थमा दिया जाएगा। हालांकि पात्रता को लेकर किसी तरह का कोई समझौता नहीं होगा ये योगी सरकार पहले ही स्पष्ट कर चुकी है।


शिक्षामित्रों को मिलेगा एक और मौका

सुप्रीम कोर्ट में यूपी सरकार के निर्णय पर मुहर लगने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि जिन शिक्षािमत्रों को मौका नहीं मिला है उन्हें राज्य सरकार एक और मौका देगी। शीर्ष अदालत ने भी शिक्षामित्रों को संबंधित परीक्षाओं में भाग लेने का अंतिम मौका दिया है।


फरवरी में हो सकती है UPTET परीक्षा

शिक्षक बनने के लिये यूपी टीईटी परीक्षा की बाट जोह रहे अभ्यर्थियों के लिये भी खुशखबरी है। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने यूपी टीईटी परीक्षा कराने की इजाजत दे दी है। कहा जा रहा है कि फरवरी 2021 में UPTET की परीक्षा करायी जा सकती है। जल्द ही इसके लिये नोटिफिकेशन भी जारी किये जाने की उम्मीद जतायी जा रही है।


प्राथमिक और उच्च प्राथमिक स्कूलों में पढ़ाने का मिलेगा मौका

यूपी टीईटी परीक्षा राज्य स्तर पर ऐसे शिक्षकों के चयन के लिये आयोजित की जाती है जो प्राथमिक और उच्च प्राथमिक स्तर के स्कूलों में पढ़ा सकें। यह परीक्षा दो भागों में आयोजित की जाती है। पहले पेपर की परीक्षा में शामिल होने वालों को कक्षा एक से लेकर पांचवीं तक का शिक्षक बनने का मौका मिलता है। वहीं दूसरे पेपर में शामिल होने वाले कक्षा 6 से लेकर 8वीं तक के शिक्षक बनने के योग्य माने जाते हैं। यूपी टीईटी परीक्षा में आरक्षित वर्ग को छूट का भी प्रावधान है। अनारक्षित उम्मीदवारों को 90 प्रतिशत अंक लाना जरूरी होता है।


कुछ जरूरी जानकारियां

  • UPTET के लिये आवेदन updeled.gov.in पर
  • केवल ऑनलाइन माध्यम से भरा जा सकता है UPTET Application Form 2020 – 2021
  • आवेदकों को निर्धारित शुल्क का भुगतान करना होता है
  • दोनों पेपरों में बहु विकल्पीय प्रश्न होते हैं
  • नेगेटिव मार्किंग नहीं होती
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned