scriptGovernor addresses 9th Indian Horticulture Congress-2021 webinar | जैविक खेती, प्राकृतिक खेती तथा गौ आधारित खेती को बढ़ावा दिया जाये- आनंदीबेन पटेल | Patrika News

जैविक खेती, प्राकृतिक खेती तथा गौ आधारित खेती को बढ़ावा दिया जाये- आनंदीबेन पटेल

जीवन को स्वस्थ्य रखने में फल एवं सब्जियों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। उन्होंने कहा कि फलों और सब्जियों के नियमित सेवन से मानव स्वास्थ्य और शरीर की आन्तरिक प्रणाली तो मजबूत होती ही है, साथ ही पाचन शक्ति भी बढ़ती है, जो पोषण प्रदान करने के अतिरिक्त अनेक रोगों से बचाने में सहायक होती है।

लखनऊ

Published: November 18, 2021 05:28:48 pm

लखनऊः उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने आज राजभवन से चन्द्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय, कानपुर तथा भारतीय उद्यान विज्ञान अकादमी, नई दिल्ली द्वारा ‘9वीं भारतीय बागवानी कांग्रेस-2021 स्वास्थ्य आजीविका और अर्थव्यवस्था के लिए बागवानी‘‘ विषय पर आयोजित वेबिनार को सम्बोधित किया। इस अवसर पर राज्यपाल ने कहा कि स्वास्थ्य और भोजन के बीच अटूट रिश्ता है, लेकिन यह रिश्ता तभी तक बना रह सकता है, जब तक हम आहार के प्रति सचेत रहते हैं। जीवन को स्वस्थ्य रखने में फल एवं सब्जियों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। उन्होंने कहा कि फलों और सब्जियों के नियमित सेवन से मानव स्वास्थ्य और शरीर की आन्तरिक प्रणाली तो मजबूत होती ही है, साथ ही पाचन शक्ति भी बढ़ती है, जो पोषण प्रदान करने के अतिरिक्त अनेक रोगों से बचाने में सहायक होती है।
जैविक खेती, प्राकृतिक खेती तथा गौ आधारित खेती को बढ़ावा दिया जाये- आनंदीबेन पटेल
जैविक खेती, प्राकृतिक खेती तथा गौ आधारित खेती को बढ़ावा दिया जाये- आनंदीबेन पटेल
राज्यपाल ने कहा कि बागवानी फसलों का कृषि एवं संवर्गीय क्षेत्र के सकल घरेलू उत्पादन में महत्वपूर्ण योगदान है। बढ़ती मांग तथा कृषि में महत्वपूर्ण योगदान के कारण ही बागवानी फसलें प्राथमिकता का क्षेत्र बन रही हैं। बागवानी फसलों में जैविक उत्पादकता और पोषण मानकों में सुधार के अलावा लाभ प्रदाता बढ़ाने की भी काफी संभावनाएं हैं। उन्होंने कहा कि हम सभी को जैविक खेती, प्राकृतिक खेती तथा गौ आधारित खेती को बढ़ावा देना होगा।
राज्यपाल ने कहा कि कृषि व्यवसाय प्रबन्धन, व्यापार एवं किसानों के उत्पादों को उचित मूल्य एवं खाद्य प्रसंस्करण एवं मूल्य संवर्धन पर भी विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है। बढ़ती गर्मी का भी औद्यानिक फसलों की उत्पादकता में प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है। इन प्रतिकूल प्रभावों से बचने के लिए विषम जलवायु परिस्थितियों का मुकाबला कर सकने वाली क्लाइमेट स्मार्ट किस्मों एवं सस्य तकनीकियों का विकास वैज्ञानिकों को करना होगा। राज्यपाल जी ने अपील की कि वैज्ञानिक स्वास्थ्य और वातावरण की समस्याओं के निवारण हेतु बेहतर शोध तथा पारदर्शी नियामक व्यवस्था लाने की दिशा में प्रयास करें, जिससे जैव प्रौद्योगिकी द्वारा विकसित फसलों का उपयोग किसान कर सकें।
राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा कि प्राकृतिक संसाधनों का अत्यधिक दोहन से पर्यावरण संतुलन बिगड़ा है, जिसके कारण मानव समाज को अनेक आपदाओं का सामना करना पड़ रहा हैं। हम सभी को पर्यावरण को संरक्षित, संवर्धित एवं समर्पित करना ही होगा, वरना आने वाली पीढ़ियां हमें कभी माफ नहीं कर पायेंगी।राज्यपाल ने कहा कि वर्तमान खान-पान में व्यापक बदलाव की अहम आवश्यकता है। मोटे अनाज व फल एवं शाकभाजी आदि फसलों में लौह लवण प्रोटीन एवं विटामिन आदि से भरपूर होती है। वैज्ञानिक शोध कार्य करके उनकी उन्नतशील प्रजातियों विकसित करें तथा इनके मूल्य सम्बर्द्धित सस्ते उत्पाद तैयार किये जायें, जिससे कि विशेषकर महिलाओं एवं बच्चों को कुपोषण का शिकार होने से बचाया जा सके।
राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा कि वैज्ञानिकों द्वारा विकसित नवीन कृषि तकनीक को त्वरित गति से किसानों तक पहुँचाने में कृषि प्रसार की महत्वपूर्ण भूमिका है। विश्वविद्यालय किसानों को उद्यान, शाकभाजी, फूल, मसाला, औषधीय व सुगंधित फसलों के गुणवत्ता युक्त बीज तथा सही तकनीकी समय से पहुंचाएं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Health Tips: रोजाना बादाम खाने के कई फायदे , जानिए इसे खाने का सही तरीकाCash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतSchool Holidays in January 2022: साल के पहले महीने में इतने दिन बंद रहेंगे स्कूल, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालVideo: राजस्थान में 28 जनवरी तक शीतलहर का पहरा, तीखे होंगे सर्दी के तेवर, गिरेगा तापमानJhalawar News : ऐसा क्या हुआ कि गुस्से में प्रधानाचार्य ने चबाया व्याख्याता का पंजामां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतAaj Ka Rashifal - 24 January 2022: कुंभ राशि वालों की व्यापारिक उन्नति होगीMaruti की इस सस्ती 7-सीटर कार के दीवाने हुएं लोग, कंपनी ने बेच दी 1 लाख से ज्यादा यूनिट्स, कीमत 4.53 लाख रुपये

बड़ी खबरें

Punjab Election 2022: गठबंधन के तहत BJP 65 सीटों पर लड़ेगी चुनाव, जानिए कैप्टन की PLC और ढींढसा को क्या मिलाराष्ट्रीय वीरता पुरस्कार के विजेताओं से पीएम मोदी ने किया संवाद, 'वोकल फॉर लोकल' के लिए मांगी बच्चों की मददब्रेंडन टेलर का खुलासा, इंडियन बिजनेसमैन ने किया ब्लैकमेल; लेनी पड़ी ड्रग्ससंसद में फिर फूटा कोरोना बम, बजट सत्र से पहले सभापति नायडू समेत अब तक 875 कर्मचारी संक्रमितकर्नाटक में कोविड के 50 हजार नए मामले आने के बाद भी सरकार ने हटाया वीकेंड कर्फ्यू, जानिए क्या बोले सीएमICC Awards: शाहीन अफरीदी बने क्रिकेटर ऑफ द ईयर, पाकिस्तान के 3 खिलाड़ियों ने मारी बाजीBudget 2022: आम बजट में इनकम टैक्स का दायरा बढ़ाने और स्लैब दरों में परिवर्तन की उम्मीदहरियाणा में अभी नहीं खुलेंगे स्कूल, जानिए शिक्षा मंत्री ने क्या कहा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.