Hartalika Teej 2017 Vrat का महिलाओं के लिए है विशेष महत्व, जानिए पूजा का नियम और शुभ मुहुर्त

इस साल Hartalika Teej 2017 Vrat महिलाएं गुरुवार यानी 24 अगस्त, 2017 को रखेंगी। इस साल तृतीया तिथि 24 तारीख को सुबह 5:45 बजे से शुरू हो जाएगी।

लखनऊ. Hartalika Teej Vrat सबसे कठोर व्रतों में से एक माना जाता है। महिलाएं यह व्रत अखंड सौभाग्य की कामना के लिए करती हैं। ऐसी मान्यता है इस व्रत को करने से लड़कियों को अपना मनचाहा वर मिलता है। इस व्रत को करने का सबसे कठिन नियम यह है कि महिलाएं पूरे दिन पानी नहीं पीती हैं। महिलाएं पूरा दिन निर्जला व्रत पूरा करने के बाद अगले दिन पानी पीती हैं। इस साल हरतालिका तीज का व्रत महिलाएं गुरुवार यानी 24 अगस्त, 2017 को रखेंगी। इस साल तृतीया तिथि 24 तारीख को सुबह 5:45 बजे से शुरू हो जाएगी। अब आपको हरतालिका तीज व्रत करने का महत्व, विधि और मुहुर्त के बारे में बताते हैं।


कैसे करते हैं हरतालिका तीज व्रत (Hartalika Teej Vrat Vidhi)

हरतालिका तीज का कठिन व्रत महिलाएं अपनी मनोकामना पूर्ण करने के लिए रखती हैं। इस व्रत की कई महत्वपूर्ण बाते हैं।

 

- हरतालिका तीज व्रत में माता पार्वती और भगवान शंकर की पूजा होती है।

- हरतालिका तीज व्रत में दिन भर पानी नहीं पीते हैं। व्रत पूरा करने के बाद अगले दिन महिलाएं पानी पीती हैं।

- हरतालिका तीज व्रत एक बार रखने के बाद फिर महिलाएं पूरी जिंदगी इस व्रत को छोड़ नहीं सकतीं। हर साल महिलाओं को इस व्रत को रहना पड़ता है। 

- हरतालिका तीज के व्रत वाले दिन महिलाएं रात भर जागकर भजन-कीर्तन करती हैं।

- यह व्रत कुंवारी लड़कियां और सुहागिनें करती हैं। विधवा महिलाएं भी इस व्रत को रख सकती हैं।

- हरतालिका तीज व्रत को महिलाएं प्रदोषकाल में करती हैं।


हरतालिका तीज व्रत का नियम (Hartalika Teez Niyam)

- हरतालिका तीज व्रत की पूजा के लिए शंकर-पार्वती और गणेश भगवान की मूर्ति हाथों से बनाते हैं। 

- पूजा करते समय एक चौकी रखें और उस चौकी को फूलों से सजाएं। चौकी पर केले के पत्ते भगवान की मूर्ति रखें। 

- सुहाग की पिटारी माता पार्वती को चढ़ाएं। 

- भगवान शंकर को को धोती और गमछा चढ़ाएं।

- सुहाग सामग्री ब्राह्मणी और ब्राह्मण को दान दें।

पूजा के बाद कथा सुनें और रात में जागरण करें।

- आरती के बाद सुबह माता पार्वती को सिंदूर चढ़ाएं।

- ककड़ी-हलवे का भोग लगाकर व्रत खोलें। 


क्यों करते हैं हरतालिका तीज व्रत?

- कुंवारी लड़कियां हरतालिका तीज व्रत मनचाहा वर पाने के लिए करती हैं।

- शादीशुदा महिलाएं इस व्रत को पति की लंबी उम्र के लिए करती हैं।

- कुंवारी लड़कियां और शादीशुदा महिलाएं भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा करके उनका आशीर्वाद लेती हैं।


हरतालिका तीज व्रत का मुहूर्त (Hartalika Teej Subh Muhurat)
 
- भाद्रपद के शुक्ल पक्ष की तृतीया को मनाई जाती है

सुबह 05:45 से सुबह 08:18 बजे तक।

- शाम 6:30 बजे से रात 08:27 बजे तक।

- 1 घंटा 56 मिनट में होती है पूरी पूजा।

Show More
नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned