आरोग्य स्वास्थ्य मेले  का स्वास्थ्य मंत्री ने किया निरीक्षण

माध्यम से स्वास्थ्य सुविधाएं व्यक्ति को घर या उसके आस-पास ही मिल जायें ।

By: Ritesh Singh

Published: 21 Feb 2021, 07:28 PM IST

लखनऊ, रविवार को जिले में सभी 80 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों (पीएचसी) पर आरोग्य स्वास्थ्य मेले का आयोजन किया गया। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री जय प्रताप सिंह ने जियामऊ, फैजुल्लागंज, उजरियावां और जानकीपुरम प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों (पीएचसी) का औचक निरीक्षण किया। इस मौके पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. संजय भटनागर, एन.के.रोड सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) के चिकित्साधीक्षक डा. वाई.के. सिंह, जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सूचना अधिकारी योगेश रघुवंशी और जिला कार्यक्रम प्रबंधक सतीश यादव उपस्थित थे ।

इस अवसर पर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी का यह सपना है कि स्वास्थ्य सुविधाएं समाज के आखिरी व्यक्ति तक पहुंचे। मुख्यमंत्री ने इसी सपने को पूरा करने के उद्देश्य से ही इन स्वास्थ्य मेलों की शुरुआत की है। कोरोना के कारण लगभग 10 माह तक इसका आयोजन नहीं किया गया लेकिन स्थितियां सामान्य होने के बाद विगत जनवरी माह से इसका आयोजन फिर से शुरू किया गया है l जिसके माध्यम से स्वास्थ्य सुविधाएं व्यक्ति को घर या उसके आस-पास ही मिल जायें ।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ)डा. संजय भटनागर ने कहाकि स्वास्थ्य विभाग लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं घर के समीप पहुँचाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है । आरोग्य स्वास्थ्य मेला इसी क्रम की एक महत्वपूर्ण कड़ी है ।

आरोग्य स्वास्थ्य मेले के नोडल अधिकारी डा. विवेक दुबे ने बतायाकि स्वास्थ्य मेले में कुल 6881 मरीज पंजीकृत हुए जिसमें पुरुष मरीज 2423, महिला मरीज 3,347 व 1,111 बच्चे थे । इस अवसर पर 660 गोल्डन कार्ड बने। साथ ही मेले में 624 एंटीजन टेस्ट हुए जो सभी निगेटिव आये और 63 लोगों की आँखों की जाँच हुई। मेले में स्वास्थ्य विभाग के अलावा बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग के अधिकारी और कर्मचारी शामिल हुए।

आरोग्य मेले में मिलने वाली सुविधाएँ

आरोग्य मेले में ओ.पी.डी. की सेवाओं के साथ ही टीबी, मलेरिया, डेंगू, दिमागी बुखार, कालाजार, फाइलेरिया एवं कुष्ठ रोग से सम्बंधित जानकारी, आवश्यक जांच, उपचार और संदर्भन (रेफर) की सुविधाएँ मिलीं । इसके अलावा प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (आयुष्मान भारत) एवं मुख्यमंत्री आरोग्य अभियान की जानकारी देने के साथ ही गोल्डन कार्ड का वितरण किया गया । गर्भावस्था एवं प्रसवकालीन परामर्श और जरूरी सेवाएं दी गयीं । पूर्ण टीकाकरण परामर्श व सेवाएं दी गयीं, बच्चों में डायरिया व न्यूमोनिया के रोकथाम, बचाव और उपचार की जानकारी और सुविधाएँ मिलीं । कुपोषित बच्चों के चिन्हीकरण एवं उनके उपचार के लिए समुचित कार्यवाही की गयी । परिवार नियोजन के स्थायी व अस्थायी साधनों के बारे में जानकारी देने के साथ ही उनके फायदे बताए गए । आरोग्य मेले का आयोजन कोरोना से बचाव के सभी प्रोटोकॉल्स के साथ किया गया ।साथ में कोरोना हेल्प डेस्क और एंटीजन टेस्ट की सुविधा भी उपलब्ध रही।

No data to display.
Show More
Ritesh Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned