Health News: फर्रूख़ाबाद में डेंगू, मलेरिया और टॉयफायड से 2000 मरीज, लापरवाह बना स्वास्थ्य विभाग

Health News: उत्तर प्रदेश सरकार स्वास्थ्य सेवाओं पर भले ही करोड़ों खर्च कर रही है लेकिन स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के आगे सब कुछ फेल है। फर्रुखाबाद में इन दिनों बुखार ने कई गांव में अपने पांव पसार दिए हैं। जिले के बरौन गांव में 2 हजार से अधिक गांव वाले विचित्र बुखार से पीड़ित है। जिनका कानपुर या अन्य बाहरी अस्पतालों में इलाज चल रहा है। कई लोग ऐसे हैं जो दवाएं लाकर घरों में ही आराम कर रहे हैं।

By: Vivek Srivastava

Published: 11 Oct 2021, 10:21 AM IST

फर्रूख़ाबाद. फर्रुखाबाद में इन दिनों बुखार ने कई गांव में अपने पांव पसार दिए हैं। जिले के बरौन गांव में 2 हजार से अधिक गांव वाले विचित्र बुखार से पीड़ित है। अधिकांश लोगों की प्लेटलेट्स कम हो रही हैं। इसलिए डॉक्टर डेंगू बता रहे हैं। जिले की ब्लॉक बढ़पुर की ग्राम पंचायत बरौन में बीमारियों के कहर से हाहाकार मचा हैं। बरौन में डेंगू टायफायड व मलेरिया की दस्तक से सभी घरों में बुखार के मरीज़ों की भरमार हो जाने से ग्रामीणों में दहशत फैल गई है। गांव की आबादी लगभग दस हजार है गांव में हर गांव में कोई न कोई बीमार है। बरौन में लगभग 2000 लोग बीमार है जिनका प्राइवेट अस्पतालों में इलाज चल रहा है।

करीब तीन दर्जन अधिक गम्भीर मरीज निजी अस्प्तालों में भर्ती है गांव के काफी गंदे तालाब से बीमारियां फैल रही है। तालाब से पानी का निकास नही है तालाब में कूडा भरा होने व जंगली बेल के सडने के कारण जान लेवा मच्छरों की भरमार हो गई है।

ग्राम प्रधान ने दो बार नालियों में दवा का छिड़काव करवाया जिसका मच्छरों पर कोई असर नही हुआ। अनेकों बुखार से पीड़ित लोग झोला छाप डॉक्टर व एवं मेडिकल से दवा लाकर इलाज कर रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव में कैंप लगाकर सिर्फ खाना पूर्ति कर रही है। गांव में सफाई व्यवस्था राम भरोसे है।गांव में चारो तरफ गंदगी का सम्राज्य है। गांव की गलियों में नालियों का पानी सड़को पर बह रहा है। गांव में किसी भी मरीज की डेंगू, मलेरिया व टाइफायड जांच नहीं की गयी।

Show More
Vivek Srivastava
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned