रेड जोन में भी जिला अदालतों की सुनवाई शुरू, हर जोन के लिए बनी गाइडलाइन

ईकोर्ट की आठ मई को जारी गाइडलाइन के अनुसार अभी तक अदालतों में ई फाइलिंग के जरिये न्यायिक कार्य किया जा रहा है

By: Karishma Lalwani

Updated: 29 May 2020, 02:21 PM IST

लखनऊ. इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad Highcourt) ने केंद्र और राज्य सरकार के दिशा निर्देशों के अनुसार एक जून से लॉकडाउन में अदालतें खोलने का फैसला किया है। इसके तहत रेड, ग्रीन व ऑरेंज जोन की सभी जिला अदालतों में न्यायिक कार्य किया जाएगा। हाईकोर्ट की आठ मई को जारी गाइडलाइन के अनुसार अभी तक अदालतों में ई फाइलिंग के जरिये न्यायिक कार्य किया जा रहा है। ग्रीन और ऑरेंज जोन के बाद अब रेड जोन में भी जिला अदालतों ने सुनवाई शुरू कर दी है। हर जोन के लिए विशेष गाइडलाइन व कार्यप्रणाली घोषित की गई है।

बढ़ रही निस्तारण की संख्या

जिला अदालतों में कामकाज सामान्य होने के साथ ही मुकदमों के दाखिले और निस्तारण की संख्या में तेजी से वृद्धि हो रही है। निबंधक शिष्टाचार आशीष कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि ग्रीन व आरेन्ज जोन की 66 अधीनस्थ जिला अदालतों में 9069 मामलों की सुनवाई की गई है जिसमें से 2660 मामले निस्तारित किए गए। मुकदमों की सुनवाई में केंद्र सरकार और हाईकोर्ट की ओर से जारी गाइडलाइन का पालन किया जा रहा है। प्रदेश के 66 जिलों की अदालतों मे विचाराधीन कैदियों की रिमांड का काम वीडियो कान्फ्रेन्सिंग से किया गया। जिसमे रेड जोन की अदालतें भी शामिल है। कुल 2698 मामलों में वीडियो कांफ्रेंसिंग की गई। यह सारे मामले, मुकदमों का दाखिला और सुनवाई की व्यवस्था ई फाइलिंग से पूरी की गई।

एक जून से खुलेगी अदालत

हालातों को देखते हुए एक जून से अदालतों को खोलने का खांका तैयार किया जा रहा है। 22 मई को जस्टिस भारती सप्रू की अध्यक्षता में बैठक हुई थी जिसमें कहा गया था कि हालातों को देखते हुए 31 मई तक अवकाश बढाने का फैसला किया गया है। हालांकि ई-फाइलिंग के जरिए अर्जेंट केसों की सुनवाई की व्यवस्था बहाल रहेगी।

ये भी पढ़ें: 10वीं के छात्र ने 250 रूपये की लागत से बनाया टचलेस ऑटोमेटिक सेनेटाइजर मशीन

coronavirus COVID-19
Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned