नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू होने के बाद जनता को एक और तगड़ा झटका, अब इस चीज के लिए भी चुकानी होगी बड़ी रकम

नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू होने के बाद जनता को एक और तगड़ा झटका, अब इस चीज के लिए भी चुकानी होगी बड़ी रकम
नए मोटर व्हीकल एक्ट लागू होने के बाद जनता को एक और तगड़ा झटका, अब इस चीज के लिए भी चुकानी होगी बड़ी रकम

Ruchi Sharma | Updated: 17 Sep 2019, 02:08:28 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

जल्दी खरीद लें हेलमेट, इतने रुपए हो गए महंगे

 

 

लखनऊ. दोपहिया वाहन चलाने वालों के लिए अब एक और मुसीबत खड़ी हो गई है। पहले इतने सख्त कानून फिर ऊपर से अब हेलमेट की कीमतों में कई गुना इजाफा होने की तैयारी। आम जनता की जेब अब हल्की होने की तैयारी पूरी तरह से हो गई है। लोगों के मुताबिक हेलमेट की कीमत बढ़कर 5-10 हजार रुपए तक पहुंच जाएगी। इसलिए अगर आपके पास हेलमेट नहीं है तो जल्द खरीद लें। वरना आपको बढ़ती हुई रकम देने होगी।


सरकार ने 1993 के भारतीय मानक ब्यूरो नियमों में बदलाव कर दिया है। अब 2015 यूरोपियन मानक को लागू किया गया है। इसके तहत अब हेलमेट बनाने वालों को नई लैब लगानी होगी। सरकार के इस नए नियम से हेलमेट मैन्युफैक्चरिंग महंगी हो जाएगी। इसका सीधा असर हेलमेट की कीमत बढ़ने के रूप में सामने आएगा। हेलमेट मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन के महासचिव सुभाष चंद्रा के मुताबिक नई लैब लगाने के लिए 15 अक्टूबर की समयसीमा तय की गई है। नई लैब लगाने के लिए देशभर से केवल 40 रजिस्ट्रेशन आएं हैं। नए नियम लागू होने के बाद हेमलेट की मैन्युफैक्चरिंग कुछ कंपनियों तक सीमित हो जाएगी। साथ ही नई लैब लगाने में खर्च भी ज्यादा आएगा। उनका कहना है कि 15 अक्टूबर के बाद हेलमेट की कीमत 5000 से 10000 रुपए तक हो सकती है।


पुराने नियमों के तहत हेलमेट फैक्ट्री के साथ ही टेस्टिंग लैब बनानी होती थी। लैब में हेलमेट का परीक्षण होता था। लैब बनाने पर 6 से 7 लाख रुपए का खर्च आता था। लेकिन नए नियमों के तहत यूरोपियन टेस्टिंग लैब बनानी पड़ेगी. इस पर 2 करोड़ रुपए तक का खर्च आएगा। ऐसे में सबके लिए नई लैब लगाना संभव नहीं होगा। इस तरह हेलमेट बनाने का काम कुछ कंपनियां ही करेंगी। ऐसे में कंपनियां अपने हिसाब से रेट तय करेंगी। जिसकी महंगाई की मार आम जनता को सहना पड़ेगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned