होमगार्ड जवानों को अब हाजिरी के लिए नहीं लगाने होंगे चक्कर, मिलेगी यह सुविधा

- ड्यूटी कर रहे होमगार्डों की हाजिरी अब सीधे ऑनलाइन होगी दर्ज

By: Neeraj Patel

Published: 12 Jan 2021, 01:49 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
लखनऊ. उत्तर प्रदेश के सरकारी और गैर सरकारी संस्थानों में तैनात होमगार्ड के जवानों को अब हाजिरी के लिए अधिकारियों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। ड्यूटी कर रहे होमगार्डों की हाजिरी अब सीधे एनआइसी (National Informatics Centre) पर ऑनलाइन दर्ज की जाएगी और इसके साथ ही उनका मानदेय भी ऑटो जनरेट हो जाएगा। हाजिरी से संबंधित शिकायते ऑनलाइन होने के बाद प्रदेश भर के होमगार्ड अपनी शिकायत दो दिन के भीतर एनआइसी पर दर्ज करा सकेंगे। अगर ड्यूटी पर रहते हुए भी किसी कारण से उनके पर्वेक्षक अधिकारी ने उन्हें अनुपस्थित कर दिया है तो होमगार्ड एनआइसी पर सीधे आपत्ति भी दर्ज करा सकेंगे।

ऑनलाइन लिए होमगार्ड जवान से लेकर नोडल, वैतनिक हवलदार, बीओ और पीसी के पास भी अपनी लॉगइन आइडी होगी। जवानों की उपस्थिति-अनुपस्थिति एनआइसी के जरिए जिला कमांडेंट से लेकर मंडल, मुख्यालय और शासन स्तर पर बैठे अधिकारी देख सकेंगे। इस व्यवस्था से होमगार्ड जवानों का शोषण नहीं होगा। बता दें कि बीते साल उजागर हुए होमगार्ड जवानों के फर्जी मस्टर रोल वेतन घोटाले के बाद इसे लागू किया गया है। पायलट प्रोजेक्ट के तहत बाराबंकी से इसका परीक्षण किया जा रहा है। इसके बाद सभी 75 जनपदों में व्यवस्था लागू की जाएगी।

ये भी पढ़ें - यूपी में 17 जिलों के DIOS समेत 47 शिक्षा अधिकारियों के हुए तबादले, जारी हुई लिस्ट

क्या है मस्टर रोल घोटाला

आरोपी सबसे पहले फर्जी मस्टर रोल तैयार करते थे। इसमें दो तरह से फर्जीवाड़ा होता था। एक तो जिस थाने या कार्यालय में जितने होमगार्ड को तैनात किया जाता था। उससे डेढ़ या दो गुना संख्या फर्जी मस्टर रोल में लिखते थे। इसके बाद अतिरिक्त होमगार्डों के वेतन निकाल लिए जाते थे। होमगार्ड अपने खाते से पैसे निकालकर सभी को शेयर के मुताबिक देते थे। वहीं, दूसरा फर्जीवाड़ा कार्य दिवस बढ़ाकर करते थे। जैसे एक माह में किसी होमगार्ड ने दस दिन की ड्यूटी की तो उसका कार्य दिवस 20 से 25 दिनों का दिखाया जाता था।

Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned