सही कराना चाहते हैं घर में आने वाला गंदा पानी, तो अपनी जेब से चुकानी होगी रकम

Dikshant Sharma

Publish: Mar, 14 2018 06:27:39 PM (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
सही कराना चाहते हैं घर में आने वाला गंदा पानी, तो अपनी जेब से चुकानी होगी रकम

शिकायत निवारण शिविर में सबसे अधिक शिकायतें बदबूदार और प्रदूषित जल आपूर्ति की आयीं हैं।

लखनऊ. जल संस्थान ने अब लोगों को अपनी जेब से भुगतान करने का आग्रह करने का फैसला किया है। यदि उनके घरों के पास पेयजल आपूर्ति जल सीवरेज से दूषित हो रही है तो लोगों को अपनी जेब से पैसा खर्च करना होगा। जल संस्थान टीम जल्द ही इस तरह के इलाकों को चिन्हित करने के लिए क्षेत्रों का सर्वे करेगी। टीम ये चिन्हित करेगी कि कहाँ लोग सीवर मिश्रित पानी की आपूर्ति की शिकायत अधिक कर रहे हैं।

इसके बाद टीम उन घरों की पहचान करेगी जहां आपूर्ति प्रदूषित हो रही है। भवनस्वामियों को नोटिस दिया जाएगा। उन्हें अपने पैसे खर्च कर इसे दुरस्त कराना होगा। अधिकारियों का कहना है कि इसमें अधिक खर्च नहीं आएगा। लगभग 500 रुपये आने का अनुमान है। हालांकि अगर काम में अधिक धन शामिल है, तो जल संस्थान अपने दम पर सुधार करेगी।

 

रानी लक्ष्मी बाई वार्ड के पार्षद शफीकुरेहमान 'चाचा' ने कहा कि पीर जलील और गोपाल दास बागिया जैसे क्षेत्रों में पिछले कई दिनों से गंदा आपूर्ति हो रही है। इसकी शिकायत भी मंगल दिवस में की जा चुकी है। हालाँकि ये ठीक है कि जल संस्थान मालिकों को जल्द से जल्द समस्याओं को ठीक करने के लिए कहेगा लेकिन इसका शुल्क जनता से क्यों ? वे खुद नियमित रूप से सफाई नहीं करते जिससे सीवर ओवरफ्लो हो कर आसपास की लाइन को प्रदूषित।

जगदीश चंद्र बोस वार्ड के पार्षद यावर हुसैन रेशु ने कहा कि जलसंस्थान अपनी गलती छुपाने के लिए पब्लिक पर बोझ क्यों डाल रहा है ? पुराने शहर में जलसंस्थान की पेय जल की लेने सीवर और नालों के बीच से गुज़रती हैं। उसमें गलती किसकी ?

जल संस्थान जीएम एसके वर्मा ने कहा कि गर्मियों के आने से पहले ही पानी की काफी शिकायतें आयी हैं। शिकायत निवारण शिविर में सबसे अधिक शिकायतें बदबूदार और प्रदूषित जल आपूर्ति की आयीं हैं। इनमें से ज्यादातर पुराने शहर की हैं। हम इन जगहों का सर्वे करेंगे और उन घरों को ढूंढेंगे जहां आपूर्ति गड़बड़ी से जुड़ी हुई है और सीवर लाइनों के साथ मिल रही है। साथ ही मकान मालिक से ही इसे जल्द से जल्द सही करने के लिए कहा जाएगा। इसके लिए शुल्क भी उन्ही से लिया जाएगा। हमारी जो लाइन सीवर से गुज़र रही हैं उन्हें शिफ्ट करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned