Aadhar Virtual Id Online ऐसे करें जेेेनरेट, बार-बार आधार कार्ड नंबर देने से पाएं छुट्टी

  • 16 डिजिट की आधार वर्चुअल आइडी (Aadhar Virtual Id Online) है फायदेमंद
  • आधार कार्ड के दुरपयोग की कम करती है संभावना
  • थर्ड पार्टी के साथ नहीं शेयर होती ज्याा जानकारियां

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

लखनऊ. सिम खरीदने से लेकर बैंकिंग समेत कामों में आधार कार्ड की जरूरत पड़ती है। इसमें आपके आधार के दुरपयेाग का खतरा भी बना रहता है। पर अगर आप चाहें तो आधार कार्ड देने से इनकार कर सकते हैं। पर इसके बदले आपको आधार वर्चुअल आईडी देनी होगी। यह आपका वर्चुआल आधार कार्ड ही है। वर्चुअल आइडी के जरिये आप आधार कार्ड (Adhar Card) की हार्ड काॅपी के इस्तेमाल से काफी हद तक बच सकते हैं। इससे फायदा यह होगा कि आप जहां अपना आधार दे रहे हैं वहां आपकी कम से कम जानकारी साझा होगी। आपको इस बात की टेंशन नहीं रहेगी कि आपके आधार का दुरुपयोग न हो जाए। आप जब चाहें बड़ी ही आसानी से आधार वर्चुअल आईडी ऑनलाइन (Aadhar Virtual Id Online) जेनरेट कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें- इन 7 स्टेप में लाॅक कीजिये Aadhar Card, कोई नहीं कर पाएगा गलत इस्तेमाल

क्या है आधार वर्चुअल आइडी

आधार कार्ड भारत में एक सर्वमान्य आईडी प्रूफ के तौर पर स्वीकार किया जाता है। इस एक कार्ड से आप कई सारे आईडी प्रूफ देने से बच जाते हैं। पर सबकुछ डिजिटल युग में आधार कार्ड का भी वर्चुअल अवतार पेश कर दिया गया। दूसरे शब्दो में कहें तो आधार कार्ड के इस्तेमाल को और भी आसान बना दिया गया है। आधार वर्चुअल आईडी में आधार नंबर नहीं होता बल्कि उसकी जगह 16 डिजिट होते हैं। आधार कार्ड पर लिखे नंबर से इसका कोई लेना देना नहीं होता। आधार कार्ड 12 अंकों का होता है जबकि वर्चुअल आईडी 16 अंकों की होती है और वो नंबर भी टेंपरेरी होते हैं। इसे आप बेधड़क इस्तेमाल कर सकते हैं और किसी को भी दे सकते हैं, क्योंकि इसमें आपकी ज्यादा जानकारियां साझा नहीं होतीं।

 

वर्चुअल आईडी के फायदे

आधार वर्चुअल आईडी के ढेरों फायदे हैं। इसके रहते आपको अपना ओरिजिनल आधार किसी थर्ड पार्टी को देने की जरूरत नहीं। बैंक अकाउंट खोलने से लेकर सरकारी सब्सिडी, पासपोर्ट अप्लाई, इंश्योरेंस पाॅलिसी आदि ढेरों काम इसके जरिये कर सकते हैं। इसके जरिेय केवाईसी (KYC) बड़ी आसानी से की जा सकती है। बड़ी बात ये कि एक आधार के लिये सिर्फ एक वर्चुअल आईडी बन सकती है। वो भी महज तीन दिन के लिये।

 

आधार कार्ड लाॅक अनलाॅक के लिये भी जरूरी

दुरुपयोग से बचने के लिये आप जब चाहें अपना आधार कार्ड लाॅक और अनलाॅक कर सकते हैं वो भी अपने मोबाइल पर ऑनलाइन। पर इसके लिये भी आपके पास वर्चुअल आईडी होनी जरूरी है। आधार नंबर लाॅक होने के बाद केवाईसी से जुड़ी किसी भी तरह की आवश्यकता के लिये वर्चुअल आईडी जरूरी होगी।

 

ऐसे जेनरेट करें वर्चुअल आईडी

आधार वर्चुअल आइडी बनाना पिज्जा ऑर्डर करने जितना आसान है। बस UIDAI की वेबसाइट पर जाकर कुछ आसान से स्टेप्स फाॅलो करने होंगे उसके बाद पलक झपकते ही आचार वर्चुअल आईडी जेनरेट हो जाएगी।

  • आधार की वेबसाइट https://www.uidai.gov.in/ पर जाएं
  • ऑप्शन में जाकर वर्चुअल आईडी जेनरेटर पर क्लिक करें
  • अपना रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर इंटर करें
  • सिक्योरिटी कोर्ड यानी कैप्चा भरें
  • सेंड ओटीपी पर क्लिक करें
  • अपना ओटीपी इंटर करें
  • अब आपकी वर्चुअल आईडी तैयार है
  • वर्चुअल आईडी पर आपके फोन पर मिल जाएगी
Show More
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned