आईएएस अफसर अनुराग की मौत मामले में सपा और कांग्रेस विधायक ने योगी को घेरा

आईएएस अफसर अनुराग की मौत मामले में सपा और कांग्रेस विधायक ने योगी को घेरा
Yogi Adityanath

Shatrudhan Gupta | Updated: 18 May 2017, 11:41:00 PM (IST) LUCKNOW

लखनऊ. लखनऊ में आईएएस अधिकारी अनुराग तिवारी की रहस्यमय मौत का मामला गुरुवार को विधानसभा में भी गूंजा। सपा, कांग्रेस व बसपा ने आईएएस अफसर की हत्या का आरोप लगाते हुए मुद्दे पर चर्चा की मांग की। सपा ने वेल में आकर हंगामा किया, जबकि कांग्रेस ने अपने एक नेता की प्रताडऩा का मुद्दा उठाते हुए वाकआउट किया। वहीं बसपा नेता अपने विधायक की प्रताडऩा का आरोप लगाकर सदन से बाहर चले गए।

प्रश्नकाल शुरू होते ही बसपा, कांग्रेस व सपा ने लखनऊ में आईएएस अधिकारी की मौत का मुद्दा उठाया। इस पर भी विपक्षी दलों के सदस्य नहीं रुके। सपा के सदस्य नारेबाजी करते हुए वेल में आ गए। उन्होंने आईएएस की हत्या का आरोप लगाया। विधानसभा अध्यक्ष ह्रदय नारायण दीक्षित ने कहा कि यह नियमों के तहत नहीं हो सकता। अन्य सदस्यों के मौलिक अधिकारों का हनन है। 

नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी ने कहा कि अगर अध्यक्ष ही विपक्ष को संरक्षण नहीं देंगे तो अपने कष्ट किससे और कहां कहे जाएंगे। जब बात ही नहीं सुनी जा रही तो क्या फायदा। अध्यक्ष ने नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी से मुखातिब होकर कहा कि बुधवार को राज्यपाल राम नाईक के अभिभाषण पर चर्चा के लिए सभी को पर्याप्त वक्त मिला है। आपने भी तरह-तरह की उपमाओं के साथ जमकर विरोध कियाए कुछ उचित था कुछ नहीं था लेकिन सभी ने ध्यान से सुना। सभी को पूरा अवसर मिला था। इससे चौधरी सपा सदस्यों समेत सदन से बाहर चले गए। 

कांग्रेस के अजय कुमार लल्लू ने भी कानून-व्यवस्था का मुद्दा उठाया और कहा कि उनकी पार्टी की नेता की प्रताडऩा की जा रही है। लिहाजा उन्हें बात कहने का मौका दिया जाए। अध्यक्ष द्वारा अनुमति न दिए जाने पर कांग्रेस के सदस्य भी सदन से बहिर्गमन कर गए। बसपा के नेता लाल जी वर्मा ने मांग उठाई की उनके एक पूर्व विधायक का बेवजह उत्पीडऩ किया जा रहा है। इस पर चर्चा होनी चाहिए। साथ ही उन्होंने अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित से अपनी बात कहने का मौका देने का अनुरोध किया। अध्यक्ष ने कहा कि इस मुद्दे पर अभी सुनवाई नहीं की जा सकती। ऐसा नियमों के तहत नहीं हो सकता। इससे असंतुष्ट बसपा सदस्य भी सदन से बाहर चले गए।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned