एक छत के नीचे राजधानी में इकट्ठे होंगे 12 हजार वैज्ञानिक

एक छत के नीचे राजधानी में इकट्ठे होंगे 12 हजार वैज्ञानिक

Prashant Srivastava | Publish: Apr, 17 2018 12:16:39 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

राजधानी लखनऊ में एक छत के नीचे लगभग 12 हजार वैज्ञानिक इकट्ठे होने जा रहे हैं।

लखनऊ. राजधानी लखनऊ में एक छत के नीचे लगभग 12 हजार वैज्ञानिक इकट्ठे होने जा रहे हैं। दरअसल लखनऊ 5 से 8 अक्तूबर के बीच इंडिया इंटरनेशनल साइंस फेस्टिवल-2018 (आईआईएसएफ) का आयोजन होना है। लखनऊ को आईआईएसएफ के चौथे संस्करण की मेजबानी के लिए चुना गया है।
ये कार्यक्रम इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में होगा। कार्यक्रम को सफल बनाने की योजना कुर्सी रोड स्थित बायोटेक पार्क से बनेगी।

नए शोध कार्यों पर होगी चर्चा

राजधानी में होने वाले इस आयोजन में नए शोधकार्य से लेकर भविष्य में विज्ञान के स्वरूप और इसके अनुप्रयोगों पर चर्चा होगी। विज्ञान के क्षेत्र में आ रहे बदलाव के लिए एक विशेष प्रदर्शनी का आयोजन भी होगा। यह प्रदर्शनी मुख्य कार्यक्रम स्थल इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान से करीब एक किमी दूर गोमतीनगर रेलवे स्टेशन के मैदान में लगेगी।विज्ञान के महामेला के इस आयोजन में सहयोगी विज्ञान भारती के अवध प्रांत के संगठन सचिव श्रेयांश मंडलोई ने बताया कि केंद्रीय विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने विज्ञान के क्षेत्र में राजधानी के महत्व को देखते हुए इसे मेजबानी के लिए चुना है।

यहां भी होंगे कार्यक्रम


सैटेलाइट इवेंट के रूप में कुछ कार्यक्रम सीएसआईआर की लैब एनबीआरआई, सीडीआरआई, आईआईटीआर, सीमैप के साथ बीबीएयू, एलयू, एकेटीयू, इंटीग्रल यूनिवर्सिटी, बायोटेक पार्क, एमिटी यूनिविर्सिटी में भी होंगे।

बायोटेक पार्क में बनेगी कार्यक्रम की योजना


साइंस फेस्टिवल को सफल बनाने की योजना बायोटेक पार्क में बनेगी। इसके लिए बायोटेक पार्क के सीईओ प्रो. प्रमोद टंडर ने सोमवार को एक सचिवालय भी शुरू कर दिया। इस दौरान विज्ञान भारती अवध प्रांत के अध्यक्ष और एनबीआरआई के प्रमुख वैज्ञानिक डॉ. एसके तिवारी, पूर्व वैज्ञानिक बीएसआईपी डॉ. सीएम नौटियाल भी मौजूद रहे।

5 लाख विजिटर्स भी होंगे शामिल

करीब 10 से 12 हजार वैज्ञानिकों के अलावा इस कार्यक्रम में करीब पांच लाख विजिटर्स इस कार्यक्रम में अलग-अलग जगहों पर शामिल होंगे। इस बात की जानकारी कार्यक्रम का कम्युनिकेशन की जिम्मेदारी संभालने वाले डॉ. सीएम नौटियाल ने दी। उन्होंने कहा कि करीब पांच लाख विजिटर्स इस कार्यक्रम में अलग-अलग जगहों पर शामिल होंगे। केंद्र और प्रदेश सरकार के विशिष्टजन भी शामिल होंगे। इनके नाम अभी तय होने हैं।

यहां हो चुके हैं तीन आयोजन

आईआईटी दिल्ली
सीएसआईआर-नेशनल फिजिकल लेबोरेट्री दिल्ली
अन्ना यूनिवर्सिटी, चेन्नई

Ad Block is Banned