कोतवाली परिसर में दरोगा का शव फांसी के फंदे पर लटका मिला, स्थानांतरण होने से था तनाव

महोबा शहर कोतवाली में तैनात उपनिरीक्षक का संदिग्ध परिस्थितियों में कोतवाली परिसर स्थित आवास में फांसी के फंदे पर शव मिलने हड़कम्प मच गया ।

महोबा. महोबा शहर कोतवाली में तैनात उपनिरीक्षक का संदिग्ध परिस्थितियों में कोतवाली परिसर स्थित आवास में फांसी के फंदे पर शव मिलने हड़कम्प मच गया । घटना की सूचना मिलते ही आनन-फानन में एसपी सहित पुलिस आलाधिकारियों ने मौके पर पहुंच मामले की जांच शुरू कर दी है।

 

महोबा शहर कोतवाली में कई बर्षों से तैनात उपनिरीक्षक रमाकांत सचान का तबादला महोबा से प्रयागराज हो गया था । उपनिरीक्षक रमाकांत को अप्रैल वर्ष 2020 में सेवानिवृत्त होना था । ऐसे में उनका ट्रांसफर कुछ दिनों पहले प्रयागराज कर दिया गया था । आज सुबह उनका शव कोतवाली परिसर के कमरे में पंखे से लटका मिलने से कोतवाली पुलिस में हड़कंप मच गया ! घटना की सुचना पुलिस अधीक्षक और अपर पुलिस अधीक्षक भी मौके पर पहुँच गए ! मृतक उपनिरीक्षक का परिवार मौजूदा समय मे कानपुर देहात में रहता है । सूत्रों की माने तो ट्रांसफर को लेकर उपनिरीक्षक काफी परेशान रहते थे । फिलहाल एसपी महोबा मामले को सदिंग्ध बता रहे है । उनका कहना कि कोतवाली स्थित आवास में फंदे पर शव लटकता मिला है । इनके पास कोतवाली मालखाने का चार्ज था । परिवार को सूचित किया जा चुका है । परिजनों के आने के बाद मामले की स्थिति और भी स्प्ष्ट होगी । बहरहाल दरोगा द्वारा आत्महत्या किये जाने से पुलिस विभाग में भी हड़कंप मच गया !

आकांक्षा सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned