शादी के बाद सिर्फ एक घंटे ही ससुराल में रुकी थी मृतक आईपीएस की पत्नी

शादी के बाद सिर्फ एक घंटे ही ससुराल में रुकी थी मृतक आईपीएस की पत्नी

Akansha Singh | Publish: Sep, 10 2018 01:33:26 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

उत्तर प्रदेश के तेज-तर्रार आईपीएस सुरेंद्र दास की रविवार की दोपहर रीजेंसी हॉस्पिटल में मौत हो गई।

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के तेज-तर्रार आईपीएस सुरेंद्र दास की रविवार की दोपहर रीजेंसी हॉस्पिटल में मौत हो गई। उनका शव का पुलिसलाइन में गार्ड-ऑफ-ऑनर देकर दाह संस्कार के लिए लखनऊ आ गया। लखनऊ के गोमती में उनका देह संस्कार किया जाएगा। आईपीएस सुरेंद्र दास की मौत जहर खाने से हुई है। वहीं उनके भाई नरेंद्र दास ने मौत का कारण उनकी पत्नी को बताया है। जबकि पत्नी का कहना है कि, "मुझे मेरे हाल पर छोड़ दीजिये। मैं हाथ जोड़ कर कह रही हूँ, मुझे किसी से कोई बात नहीं करनी, मेरा तो आज सबकुछ चला गया।"

भाई ने खोला मौत का सच

IPS सुरेंद्र दास के भाई नरेंद्र दास ने लगाए उनकी पत्नी रवीना पर तमाम आरोप लगाए हैं। आरोपों में यह बात सामने आई है कि सुरेंद्र दास पत्नी डॉक्टर रवीना से तलाक लेना चाहते थे। उन्होंने shaadi.com के जरिए 9 अप्रैल 2017 को शादी की थी। उनके भाई नरेंद्र दास का कहना है कि शादी के बाद से ही पत्नी रवीना परिवार से बात करने पर झगड़ा करती थी। जिसकी वजह से बीते कई महीनों से सुरेंद्र दास ने परिवार से बातचीत करना बंद कर दिया था। परिवार के किसी भी सदस्य चाहे वो बड़े भाई हो चाहे मां से भी वे फोन पर बात नहीं करते थे। मामले में सुरेंद्र दास के बड़े भाई ने कहा कि भाई की मौत पर एफआईआर लिखाएंगे।

मौत का यह भी एक बड़ा कारण

आईपीएस सुरेंद्र दास के भाई नरेंद्र दास ने अपने भाई की मौत के बाद चुप्पी तोड़ दी है। नरेंद्र ने आईपीएस की पत्नी रवीना के खिलाफ खुदखुशी के लिए उकसाने की तहरीर देंगे। इसी बीच एक खबर आई है कि रवीना शादी के बाद सिर्फ एक घंटे अपनी ससुराल में रुकी थी। उसके बाद के गाड़ी मंगा कर अपने पिता के घर गोमती नगर चली गई थी। यह भी बात सामने आई है की वे न तो खुद ससुराल में रुकती थी न ही पति सुरेंद्र दास को घर जाने देती थी। सुरेंद्र दास शाकाहारी थे और रवीना मांशाहारी। यह बात सामने आई है कि जन्माष्टमी के दिन आईपीएस सुरेंद्र के बार बार मना करने के बावजूद उनकी पत्नी ने नॉनवेज बना कर खाया था।

कड़ी से कड़ी सजा दिलवाऊंगा

आईपीएस के शव का पोस्टमार्टम करने के बाद उसे पुलिस लाइन में लाया गया। जहां उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। एडीजी, अविनाश चंद्रा व एसएसपी अनंत देव ने कंधा दिया तथा कैबिनेट मंत्री सतीश महाना ने श्रद्धांजलि दी। शव पर माला चढ़ाते हुए इंदू बिलख-बिलखकर रोने लगीं। कुछ देर बाद शव लखनऊ के कल्ली पश्चिम स्थित आवास के लिए रवाना कर दिया गया। पुलिस लाइन पर सुरेंद्र दास के बड़े भाई नरेंद्र दास ने कहा कि पत्नी डॉक्टर रवीना ने मेरे भाई की जान ले ली। शादी के बाद से ही वह कलह कर रही थी। पूरे परिवार से सुरेंद्र को अलग कर दिया था। अब दुनिया से उसे छीन लिया। मैं किसी को छोडूंगा नहीं। भाई की मौत के दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाऊंगा। मेरा भाई बहुत सीधा और सरल था। पत्नी की वजह से उनसे जान दी है। ऐसी औरत को मैं जेल के पीछे भिजवा कर दम लूंगा। उसने हमारे हंसते-खेलते परिवार को बर्बाद कर दिया और एक निर्दोष को मौत दी।

Ad Block is Banned