पत्रिका Live: कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए जनता कर्फ्यू का बड़ा असर, पूरे अयोध्या मंडल में पसरा सन्नाटा

- अयोध्या मंडल से जनता कर्फ्यू की ग्राउण्ड रिपोर्ट

- पत्रिका के 75 जिलों के संवाददाता पल पल की दे रहे हैं खबर, आप जुड़े रहे पत्रिका यूपी से

- हर घंटे में जाने यूपी के एक एक मंडल का हाल

लखनऊ. देशभर के साथ पूरे उत्तर प्रदेश में भी जनता कर्फ्यू का असर साफ देखा जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील का लोग समर्थन कर रहे हैं। सड़कें खाली पड़ी हुई हैं। यूपी में अयोध्या मंडल की अगर बात करें तो यहां भी लगभग सभी जिलों के शहरों में लोग अपने घरों के अंदर हैं। सड़कों पर सन्नाटा पसरा हुआ है। अयोध्या के साथ अंबेडकर नगर, बाराबंकी, अमेठी और सुल्तानपुर जिले में लोग अपने घरों के अंदर रहकर करोना वायरस के खिलाफ जंग लड़ रहे हैं। वहीं जनता कर्फ्यू के बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि आने वाले दिनों में भी यूपी जनता कर्फ्यू के लिए तैयार रहे। आइये आपको बताते हैं कि कोरोना वायरस के खिलाफ आज जनता कर्फ्यू के दौरान अयोध्या मंडल का क्या हाल है?

अयोध्या

सबसे पहले बात आयोध्या की करें तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर कोरोना वायरस को शिकस्त देने के लिए जनता कर्फ्यू के आह्वान का प्रभाव अयोध्या में स्पष्ट दिखाई दे रहा है। श्रद्धालुओं से पटी रहने वाली रामनगरी अयोध्या की सभी मोहल्लों, गलियों व प्रमुख सड़कों के साथ ग्रामीण इलाकों में सन्नाटा पसरा हुआ है। सुबह सात बजे से शुरू हुआ जनता कर्फ्यू आम लोगों पर कोरोना वायरस की दहशत के कारण सफल होता दिख रहा है। इस दौरान सरयू घाट हो या प्रमुख मठ मंदिर सभी स्थानों पर भगवान का पूजा पाठ तो हुआ लेकिन श्रद्धालु व भक्त नदारद रहे। वहीं कई मंदिरों के कपाट भी बंद कर दिए गए। अयोध्या की सड़कें भी सुनी रहीं। राम नगरी अयोध्या के सरयू घाट सहित मंदिरों में भी जनता कर्फ्यू रहा। प्रमुख मंदिर कनक भवन सहित , शक्ति पीठ छोटी देवकाली मंदिर के कपाट भी बंद रहे वहीं नागेश्वरनाथ, हनुमान गढ़ी व भगवान श्री रामलला का दरबार तो खुला रहा लेकिन एक भी श्रद्धालु दर्शन नही कर सके और सुनी सड़कों पर सिर्फ सुरक्षा जवान ही दिखाई दे रहे हैं। राम जन्मभूमि के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास के मुताबिक कोरोना वायरस बहुत खतरनाक है। इससे बचने का उपाय जो पीएम नरेंद्र मोदी ने दिया है उसका सभी देशवाशी पालन कर रहे हैं।

बाराबंकी

कोरोना वायरस के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जनता कर्फ्यू आह्वान का असर बाराबंकी में भी साफ नजर आ रहा है। जिलेभर में सुबह से ही जनता कर्फ्यू के चलते सड़कों पर सन्नाटा पसरा है। रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन पर भी जनता कर्फ्यू का असर साफ देखने को मिल रहै है। सुबह की सैर के लिए निकलने वाले लोगों ने बाहर निकलने से परहेज किया। इसके अलावा दुकानों के शटर भी नीचे गिरे रहे। बाराबंकी के प्रमुख इलाके धनोखर चौराहा, छाया चौराहा, रेलवे स्टेशन, बस अड्डा पर सुबह से ही वाहनों की आवाजाही बंद रही। इसके अलावा भी तमाम प्रमुख स्थानों पर भी जनता कर्फ्यू का पूरी तरह पालन करती दिखाई दे रही है। पार्क और जिम पहले से ही बन्द होने के कारण यहां भी व्यायाम करने वाले लोग नजर नहीं आए। इसके अलावा रेलवे स्टेशन पर ट्रेन से आने वाले हर शख्स की थर्मल स्क्रीनिंग के साथ दूसरी स्वास्थ्य जांच भी की जा रही है। जनता कर्फ्यू के दौरान सड़क पर मिले एक शख्स ने बताया कि वह मंदिर के दर्शन के लिए आए थे। अभी वापस घर चले जाएंगे। वहीं दिहाड़ी मजदूर ने बात करने पर बताया कि उसे जनता कर्फ्यू के बारे में जानकारी नहीं थी। इसलिए वह कोठी से बाराबंकी आ गया। अब उसे इस बारे में पता चला है तो वह वापस घर जा रहा है।

अंबेडकर नगर

जिले में जनता कर्फ्यू का व्यापक असर देखा गया है। सुबह से ही लोग अपने-अपने घरों के अंदर ही बैठ गए। सड़कें पूरी तरह से सूनी हो गई। जिला मुख्यालय पर स्थित सभी दुकानों के शटर बंद रहे । अधिकारियों ने नगर में भ्रमण कर लोगों से घर के अंदर रहकर जनता कर्फ्यू में सहयोग की अपील की। परिवहन निगम की बसें भी पूरी तरह से अकबरपुर डिपो के अंदर ही खड़ी रही। सड़क पर आने-जाने वाले इक्का-दुक्का लोगों को अधिकारियों ने रोककर घर के अंदर रहने की हिदायत दी। इसके अलावा टांडा ,जलालपुर ,आलापुर सहित अन्य कस्बों में भी जनता कर्फ्यू पूरी तरह से सफल देखा जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र की अपील को देखते हुए लोगों ने जैसे पहले से ही घर के अंदर अपने को रखने के लिए तैयार कर लिया था । सुबह होते-होते जिले की लगभग सभी सड़कें व मोहल्लों की सड़कें सूनी हो गयी। मोहल्लों में एक दो लोग आवश्यकता बस आते जाते देखे गए। नगर के बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन, पुरानी तहसील तिराहे व शहजादपुर कस्बे सहित विभिन्न कॉलोनियों में पूरी तरह से सन्नाटा रहा।


अमेठी

अमेठी में भी आज लोग जनता कर्फ्यू का पालन कर रहे हैं। पीएम मोदी की हर एक भारतीय से खुद को क्वारेंटाइन करने और कोरोना वायरस से संक्रमित होने से बचने की अपील के मद्देनजर लोग जनता कर्फ्यू का पालन कर रहे हैं। सन्नाटा पसरा है, जिस रोड पर लोगों का रेला होता था गाड़ियों का जाम होता था उस पर इक्का-दुक्का गाड़ियां है, सड़कें सूनी पड़ी हैं। महामारी का रूप धारण कर चुके चीन से विश्व भर में फैले कोरोना वायरस से संक्रमण की बचाव की खातिर पीएम नरेंद्र मोदी की अपील पर अमेठी में भी जनता कर्फ्यू का बड़ा असर दिख रहा है।

सुल्तानपुर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर जनता कर्फ्यू को लेकर जिला और पुलिस प्रशासन ने पूरी झोंक दी है। शहर से लेकर गांवों तक जनता कर्फ्यू को सफल बनाने के लिए पुलिस-प्रशासन क सभी आलाधिकारी सड़कों पर हैं। थानेदारों से से लेकर चौकीदारों तक ने संबंधित गांवों में पहुंचकर लोगों से सुबह सात बजे से लेकर रात नौ बजे तक लोगों को घर से बाहर नहीं निकलने की अपील की। डीएम और एसपी ने जनप्रतिनिधियों, समाजसेवियों और धर्म गुरुओं से मुलाकात कर सहयोग मांगा।

यह भी पढ़ें: जनता कर्फ्यू से ब्रेक हो जाएगी संक्रमण की श्रृंखला, 14 घंटे तक मानव कैरियर न मिलने से ऐसे दम तोड़ देगा कोराना

Show More
नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned