उत्तर प्रदेश में बड़े निवेश की तैयारी में जापान, इस साल लखनऊ आएगा निवेशकों का दल

- जर्मन कंपनी के बाद अब जापानी निवेशक भी यूपी आने की तैयारी में
- लॉजिस्टिक पार्क, इलेक्ट्रॉनिक सिटी व फ़ूड प्रोसेसिंग सेक्टर में जताई निवेश की इच्छा
- उत्तर प्रदेश सरकार को पत्र लिखकर दी जानकारी, नवम्बर में लखनऊ आएगा जापानी निवेशकों का दल

By: Hariom Dwivedi

Updated: 03 Jun 2020, 02:27 PM IST

लखनऊ. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की विदेशी निवेशकों को आकर्षित करने की योजना परवान चढ़ती दिख रही है। जापानी निवेशकों ने उत्तर प्रदेश के कई सेक्टर्स में निवेश की इच्छा जताई है। नवम्बर में उनका एक दल लखनऊ आएगा वहीं, अक्टूबर में थाईलैंड से उद्यमियों का एक प्रतिनिधिमंडल यूपी आएगा। बीते दिनों थाईलैंड के पूर्व उप प्रधानमंत्री कोर्न दब्बरंसी ने एमएसएमई और खादी एवं ग्रामोद्योग मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में यह जानकारी दी थी। थाईलैंड ने प्रदेश में फूड प्रोसेसिंग क्लस्टर बनाने में रुचि दिखाई है। इसके अलावा चीन से रिलोकेट हो रही मशहूर जर्मन जूता निर्माता कंपनी कासा ऐवर जिम्ब ने यूपी के आगरा में अपनी प्रोडक्शन यूनिट शुरू करने जा रही है।

मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर राज्य में निवेश लाने के लिए दुनिया भर के निवेशकों से बात कर उन्हें यहां मिल रही सहूलियतों के बारे में बताया जा रहा है। अब तक अमेरिका सहित अन्य देशों के करीब 100 निवेशकों और कंपनियों से वीडियो कॉन्फ्रेंस से बात की जा चुकी है। खासकर चीन से रिलोकेट हो रही कंपनियों को। उन्हें बताया जा रहा है कि अगर वे चीन से निकलकर अपनी फैक्ट्रियों और बेस को उत्तर प्रदेश में शिफ्ट करती हैं तो उन्हें मनमुताबिक सहूलियतें दी जाएंगी। विदेशी निवेशकों को सहूलियत देने के लिए योगी सरकार पांच अहम बिंदुओं पर काम कर रही है। इनमें व्यापार करने में आसानी, सस्ती जमीन, बुनियादी ढांचा और निवेश सुविधा शामिल है।

नवम्बर में आएगा जापानी उद्यमियों का प्रतिनिधिमंडल
जापानी निवेशकों का एक बड़ा दल नवम्बर में लखनऊ आएगा। जापान के आर्गेनाइजेशन फॉर इंडस्ट्रियल, स्प्रिच्युअल एंड कल्चरल एडवांसमेंट इंटरनेशनल (ओआईएससीए) ने यूपी के एमएसएमई (सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम) निवेश व निर्यात मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह को पत्र लिखकर यह जानकारी दी। पत्र में कहा गया है कि जापान के निवेशक उत्तर प्रदेश में विभिन्न सेक्टर में निवेश के इच्छुक हैं। नवम्बर में लखनऊ यात्रा के दौरान वह अपने प्रस्ताव पर यूपी सरकार से बात करेंगे। मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने बताया कि जापानी निवेशकों ने लॉजिस्टिक पार्क, इलेक्ट्रॉनिक सिटी व फूड प्रोसेसिंग सेक्टर में निवेश की इच्छा जताई है। बीते वर्ष ओआईएससीए के महासचिव फुमियो कितसुकि यूपी आए थे वहीं, पिछले वर्ष ही भारत में जापान के राजदूत सुजूकी भी लखनऊ आए थे।

अलग-अलग देशों के लिए अलग-अलग डेस्क
मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह का कहना है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर राज्य में निवेश लाने के लिए दुनिया भर के निवेशकों से बात कर बताया जा रहा है कि यूपी निवेश के लिए बेहतरीन गंतव्य है। अलग-अलग देशों के लिए अलग-अलग डेस्क बनाई गई है। औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने कहा कि सरकार इंटरनेशनल और रीजनल दोनों कंपनियों को आकर्षित करने को उत्सुक है। राज्य में उन्नत तकनीकों पर आधारित निवेश के लिए विशेष जोर दिया जा रहा है।

यह भी पढ़ें : इस जर्मन कंपनी ने आगरा को बनाया अपना ठिकाना, कई और इंटरनेशनल कंपनियां चीन छोड़कर यूपी आने की तैयारी में

Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned