कैलाश मानसरोवर 21 दिन की यात्रा 7 दिनों में -केशव प्रसाद मौर्य

- मानसरोवर यात्रा दुर्गम रास्तों से नहीं

- चीन की सीमा तक सड़क बनने से यात्री सीधे लिपुलेख पहुंचेंगे

By: Narendra Awasthi

Published: 10 May 2020, 09:35 PM IST

लखनऊ. कैलाश मानसरोवर यात्रा को सुगमता प्रदान करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने कैलाश यात्रियों के लिए लिंक रोड का तोहफा दिया है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा अभी हाल ही में इसका उद्घाटन किया गया। या जानकारी उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने दी उन्होंने इस लिंक रोड के निर्माण के लिए प्रधानमंत्री व रक्षामंत्री का अभिनंदन किया है। उन्होंने कैलाश पति से प्रार्थना करते हुए कहा है कि भगवान भोलेनाथ कोरोना वायरस रूपी वैश्विक संकट से देश की रक्षा करे।

चीन सीमा पर सैनिकों की तैनाती व रसद की आपूर्ति आसान

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए लिंक रोड के उद्घाटन से कैलाश मानसरोवर यात्रा अब आसान होगी। कैलाश मानसरोवर की यात्रा करने वाले लोग 21 दिन के स्थान पर केवल 1 सप्ताह में यात्रा पूरी कर सकेंगे और कैलाश मानसरोवर यात्रा दुर्लभ रास्तों से भी नहीं करनी पड़ेगी। चीन की सीमा तक सड़क बनने से अब यात्री सीधे लिपुलेख पहुंच सकेंगे। इस सड़क के निर्माण से आर्थिक विकास भी तेज होगा। चीन सीमा पर सैनिकों की तैनाती और रसद आपूर्ति भी आसान होगी ।

 

दिल्ली से सीधे लिपुलेख सड़क मार्ग से

श्री मौर्य ने बताया कि कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए अब तक यात्रियों को आधार शिविर धारचूला से लगभग 80 किलोमीटर यात्रा पैदल ही करनी पड़ती थी और दुर्गम स्थलों से होकर गुजरने वाली यात्रा बहुत कठिन थी। यात्रियों को पहली शाम आधार शिविर में रहना पड़ता था। सीमांत तक सड़क बनने से अब कैलाश यात्री सीधे दिल्ली से लिपुलेख पहुंच सकेंगे। इस सड़क के बनने से कठिन माने जाने वाली यात्रा आसान हो सकेगी। इसके अतिरिक्त छोटा कैलाश की यात्रा भी सुगम होगी। उप मुख्यमंत्री ने सीमा सड़क संगठन द्वारा किए गए इस कठिन कार्य की तारीफ की है। श्री मौर्य ने कहा कि यह रोड कैलाश मानसरोवर के लिए गेटवे साबित होगी। इस सड़क को बनाने में कठिन चट्टानों को काटा गया है। इस कार्य में श्रमिकों ने अथक परिश्रम किया है। गौरतलब है कि चीन सीमा के लिए बनी घट्टाबगढ़ लीपूलेख सड़क ( 80किमी०) का उद्घाटन अभी हाल ही में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह द्वारा वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए किया गया है।

Show More
Narendra Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned