यूपी सरकार ने की केरोसिन में कटौती, गरीबों की मुश्किलें बढ़ीं

रायबरेली में केरोसिन के सहारे घरों में अंधेरा दूर करने वाले गरीबों की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही है।

By:

Published: 12 Nov 2017, 08:02 PM IST

लखनऊ. रायबरेली में केरोसिन के सहारे घरों में अंधेरा दूर करने वाले गरीबों की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही है। शासन की ओर से 90 हजार लीटर केरोसिन की कटौती कर दी गई है। ऐसे में गरीबों की मुश्किलें बढ़ जाएंगी। वहीं, अफसरों ने नए सिरे से आवांटन जारी कर दिया है। इस बार अंत्योदय कार्डधारकों को चार नहीं, बल्कि साढ़े तीन लीटर केरोसिन से ही काम चलाना पडे़गा ।

जिले में सार्वजनिक वितरण प्रणाली की कुल 1024 दुकानें है। यहां पर करीब साढ़े पांच लाख राशन कार्ड धारक है। इनमें से पात्र गृहस्थी के चार लाख 13 हजार 875 जबकि अंत्योदय कार्ड एक लाख एक हजार 913 है। अभी तक अंत्योदय कार्डधारकों को चार लीटर जबकि पात्र गृहस्थी को दो लीटर केरोसिन मिलता था। इसके लिए शासन की ओर से 1290 केएल का आवांटन था। वर्तमान में 90 हजार लीटर केरोसिन की कटौती कर दी गई है। इससे आपूर्ति विभाग व अफसरों की नींद उड़ी है। वहीं इसका खामियाजा गरीबों को अधिक भुगतना पड़ेगा। अफसरों ने नए सिरे से आवांटन जारी कर दिया है। इस बार अंत्योदय कार्डधारकों को चार नहीं, बल्कि साढ़े तीन लीटर केरोसिन से ही काम चलाना पडे़गा।

आइओसी की कटौती सबसे अधिक होगी परेशानी

जिले में केरोसिन वितरण के लिये 16 थोक एजेंसियां है।इन्हे तीन पेट्रोलियम कंपनियों के माध्यम से केरोसिन दिया जाता है। इनमें से इंडियन आॅयल काॅपोरेषन की नौ, भारत पेट्रोलियम की पांच और हिन्दुस्तान पेट्रोलियम की दो एजेंसियां है।सबसे अधिक कटौती आइओसी में 60 हजार लीटर की हुई है।

तेल कंपनियों में कटौती

कंपनी कटौती वर्तमान आवंटन
आइओसी- 60 768
बीपीसी- 24 276
एचपीसी- 12 156

क्या कहते हैं अधिकारी


शासन की ओर से केरोसिन आवंटन कम कर दिया गया है। कम आवंटन के सापेक्ष ही कोटेदारों को उठान निर्धारित किया जाएगा। कार्डधारकों को अब कम तेल मिलेगा। नए सिरे से आवंटन के संबंध में सभी आपूर्ति निरीक्षक को निर्देष दे दिए गए है।

-केएन सिंह, जिला पूर्ति अधिकारी, रायबरेली

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned