इस होली जमकर मनाइये जश्न, गले मिलने से करें तौबा : डॉ. सूर्यकांत

कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर लखनऊ में आयोजित राज्यस्तरीय मीडिया कार्यशाला में केजीएमयू के विभागाध्यक्ष डॉ. सूर्यकान्त ने कोविड टीकाकरण के बाद शरीर में होने वाले प्रभाव के बारे में विस्तार से समझाया, कहा कि हम तभी सुरक्षित हो पाएंगे जब समुदाय में हर्ड इम्युनिटी डेवलप होगी

By: Hariom Dwivedi

Published: 17 Feb 2021, 07:51 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
लखनऊ. राजधानी के एक होटल में बुधवार को कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर राज्यस्तरीय मीडिया कार्यशाला का आयोजन किया गया। इसमें विशेषज्ञों द्वारा कोरोना टीकाकरण के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। केजीएमयू (रेस्पेरेटरी मेडिसिन) के विभागाध्यक्ष डॉ. सूर्यकान्त ने कहा कि कोरोना का खतरा कम जरूर हुआ है, लेकिन खत्म नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि सभी लोग अच्छे से होली मनायें, लेकिन ध्यान रखें कि दूर से नमस्कार करें, गले न मिलें। एक साथ इक्ट्ठा न हों और छोटे समूहों में त्योहार मनाएं।

डॉ. सूर्यकान्त ने कोविड टीकाकरण के बाद शरीर में होने वाले प्रभाव के बारे में विस्तार से समझाया। उन्होंने बताया कि टीकाकरण के बाद सामान्य तौर पर थकान, बुखार आना कोई साइड इफेक्ट नहीं बल्कि यह उसके प्रभाव को दिखाता है। वैक्सीन लगवाने से पहले लगाने वाले को अपने स्वास्थ्य के बारे में पूरी जानकारी दें। उन्होंने कहा कि हम तभी सुरक्षित हो पाएंगे जब समुदाय में हर्ड इम्युनिटी डेवलप होगी। इसके लिए 60 से 70 प्रतिशत लोग टीका लगवाना अनिवार्य है। उन्होंने कहा कि अब इस कोविड टीकाकरण अभियान को हम सभी को जश्न के रूप में मनाना चाहिए लेकिन इस जश्न में कोविड-19 के प्रोटोकाल का पालन अवश्य करें।

यह भी पढ़ें : पूरी दुनिया मांग रही है भारत का कोविड टीका

Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned