scriptKnow About vastu tips in Chaitra Navratri | Chaitra Navratri 2022: नवरात्रि में वास्तु का रखें विशेष ध्यान, इन उपायों से बढ़ेगी धन संपत्ति | Patrika News

Chaitra Navratri 2022: नवरात्रि में वास्तु का रखें विशेष ध्यान, इन उपायों से बढ़ेगी धन संपत्ति

चैत्र नवरात्रि पूजा पाठ के लिए महत्वपूर्ण माना गया है। हिन्दू समाज में नौ दिनों तक पाठ और मंत्रोच्चारण के साथ देवी की अराधना होती है। इस दौरान वास्तु का भी विशेष ध्यान देना चाहिए। नवरात्रि के दौरान वास्तु के कुछ खास उपायों के जानने के लिए पढिए पूरी खबर-

लखनऊ

Updated: March 28, 2022 11:34:49 am

चैत्र माह के शुक्ल पक्ष प्रतिपदा से चैत्र नवरात्रि का शुभारंभ होता है। इसमें मां दुर्गा के नौ स्वरूपों की पूजा अर्चना करते हैं। बता दें कि मां दुर्गा को सुख-समृद्धि और ऐश्वर्य की देवी माना जाता है। हिन्दू धर्म में कोई भी पर्व या पूजा पाठ हो इसमें वास्तु का विशेष ध्यान दिया जाता है। इसलिए नवरात्रि के लिए कुछ विशेष वास्तु उपाय हैं। इनसे सुख, समृद्धि, धन धान्य बढ़ने के साथ ही घर की नकारात्मकता भी दूर होगी। कलश स्थापना सही स्थान और दिशा चुनने से गर में सुख समृद्धि आती है। नवरात्रि में नौ दिन तक जलने वाले अखंड ज्योत का भी काफी प्रभाव रहता है। इससे घर की ऊर्जा पर फर्क पड़ता है।
navratri_2022.jpg
Chaitra Navratri 2022: चैत्र नवरात्रि कलश स्थापना,शुभ मुहूर्त और सरल पूजा विधि,,,,,Chaitra Navratri 2022: चैत्र नवरात्रि कलश स्थापना,शुभ मुहूर्त और सरल पूजा विधि,
ईशान कोण में कलश स्थापना से बढ़ेगी सुख समृद्धि

नवरात्रि के पहले दिन ईशान कोण में घट स्थापना करना चाहिए। ईशान कोण उत्तर- पूर्व दिशा को माना जाता है। इस दिशा के आधिपत्य देव यानी दिग्पाल भगवान शिव हैं। शिव जी को ईशान भी कहा जाता है इसलिए भी इस दिशा को ईशान कोण कहा जाता है। इस दिशा के स्वामी ग्रह बृहस्पति ग्रह है। इसलिए इस दिशा में घट स्थापना करने से घर में सुख- समृद्धि बढ़ती है। साथ ही आर्थिक मजबूती भी आती है।
ये भी पढ़ें : Chaitra Navratri 2022: इन विधियों से करिए कलश स्थापना, जानिए मुहूर्त और तैयारियां

आग्नेय दिशा में ज्योत जलाने से नकारात्मकता होगी दूर

नवरात्रि में आग्नेय कोण में नवदुर्गा के सामने अखंड ज्योत जलानी चाहिए। आपको बता दें कि दक्षिण-पूर्व के मध्य स्थान को आग्नेय कोण कहा जाता है। इस दिशा पर अग्निदेव का आधिपत्य है तो वहीं इस दिशा के स्वामी ग्रह शुक्र देव हैं। वास्तु शास्त्र के अनुसार अखंड ज्योत जलाने से घर में से नकारात्मकता दूर होती है। साथ ही सदस्‍यों की बीमारियां दूर होती हैं और शत्रुओं पर विजय मिलती है।
इस उपाय से व्यापार में मिलेगी सफलता

चैत्र नवरात्रि के दौरान व्‍यापारी अपने ऑफिस-दुकान के मुख्य गेट पर एक बर्तन में पानी भरकर पूर्व या उत्तर दिशा में रख दें। साथ ही पानी में लाल और पीले फूल डाल दें। ऐसा करने से बिजनेस में अच्छी सफलता मिलती है और व्यापार में अच्छा मुनाफा हो सकता है।
ये भी पढ़ें : Chaitra Navratri 2022: नौ दिन माता के इन नौ स्वरूपों की होगी पूजा अर्चना, जानिए इनसे जुड़े रहस्य

मुख्य द्वार पर इस चिह्न से लक्ष्मी का होगा आगमन

वास्तु शास्त्र के अनुसार नवरात्रि के 9 दिनों के दौरान रोज घर के मुख्य द्वार पर माता लक्ष्मी के चरण अंदर की तरफ आते हुए बनाएं। ऐसा करने से मां लक्ष्मी का आशीर्वाद आपको प्राप्त होगा। साथ ही धन- वैभव में बढ़ोतरी होगी और आर्थिक स्थिति ठीक होगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

आय से अधिक संपत्ति मामले में ओम प्रकाश चौटाला दोषी करार, 26 मई को सजा पर होगी बहसअरुणाचल प्रदेश पहुंचे अमित शाह, स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा का अनावरण कर बोले- मोदी सरकार ने दिल्ली व नॉर्थ-ईस्ट के अंतर को खत्म कियाबेटी की 'अवैध' नियुक्ति को लेकर CBI ने बंगाल के मंत्री परेश अधिकारी से तीसरे दिन भी की पूछताछRajiv Gandhi 31st Death Anniversary: अधीर रंजन ने ये क्या कह दिया, Tweet डिलीट कर देनी पड़ रही सफाई, FIR तक पहुंची बातभीषण गर्मी : देश में 140 में से 60 बड़े बांधों का पानी घटा, राजस्थान के भी तीन बांधNCP प्रमुख शरद पवार आज पुणे में ब्राह्मण समुदाय के नेताओं से क्यों मिल रहे हैं?जून के अंत में आएगी कोरोना की चौथी लहर? जानिए AIIMS के पूर्व डायरेक्टर ने क्या दिया जवाब01 जून से दुर्लभ संधि योग में शुरू होगा राम मंदिर के गर्भगृह का निर्माण, वर्षों बाद बन रहा शुभ मुर्हूत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.