Leprosy : हर दाग कुष्ठ रोग नहीं होता, लेकिन ऐसे लक्षण दिखें तो तुरंत चिकित्सक को दिखाएं

स्पर्श कुष्ठ जागरुकता अभियान के तहत सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र (सीएचसी) काकोरी में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया

By: Hariom Dwivedi

Published: 07 Feb 2021, 05:02 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
लखनऊ. अगर त्वचा पर हल्के या तांबई रंग के धब्बे हों और उनमें संवेदनहीनता हो तो यह कुष्ठ रोग हो सकता है। इसके अलावा हाथ या पैरों में अस्थिरता या झुनझुनी, नसों में दर्द, कान या चेहरे पर सूजन, हाथ या पैरों पर सुन्नता या घाव होना भी कुष्ठता के लक्षण हैं। ऐसा होने पर तत्काल नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर चिकित्सक को दिखाना चाहिए। स्पर्श कुष्ठ जागरुकता अभियान के तहत सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र (सीएचसी) काकोरी में एनएमए (नॉन मेडिकल एसिस्टेंट) धर्मेन्द्र दीक्षित ने लोगों को यह जानकारी दी। वहीं, अधीक्षक डॉ. पिनाक त्रिपाठी ने बताया कि यह बात ध्यान देने वाली है कि हर दाग कुष्ठ रोग नहीं होता है।


जादूगर द्वारा जादू के माध्यम से सभी को जागरूक किया गया। इस अवसर पर (बीसीपीएम) प्रद्युम्न कुमार मौर्या ने वहां पर उपस्थित लोगों को बताया कि समय से पहचान एवं नियमित उपचार से कुष्ठ रोग पूर्ण रूप से ठीक हो जाता है। सीएचसी काकोरी सहित प्रदेश के सभी सरकारी स्वास्थ्य केन्द्रों पर एमडीटी निःशुल्क उपलब्ध है।

Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned