खाटू श्याम मन्दिर में मूविंग झांकी के संग मेले का आनन्द

खाटू श्याम मन्दिर में मूविंग झांकी के संग मेले का आनन्द

Mahendra Pratap Singh | Publish: Sep, 03 2018 02:54:01 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

आज रात मनाया जायेगा कान्हा का जन्मोत्सव

लखनऊ। श्याम परिवार लखनऊ द्वारा ‘भगवान श्रीकृष्ण जन्मोत्सव का आयोजन बीरबल साहनी मार्ग स्थित खाटू श्याम मन्दिर में रात्रि 9 बजे से किया जायेगा। जो मध्य रात्रि तक चलेगा। इस बार यहां पण्डाल माखन मटकी की थीम पर तैयार हो गया है। श्याम बाबा के श्रंगार के लिये फूल बंगलौर से मंगाये गये हैं। श्याम परिवार लखनऊ के अध्यक्ष वीरेन्द्र अग्रवाल ने बताया कि श्रीकृष्ण जन्मोत्सव के अवसर पर भजन संध्या का आयोजन किया जाएगा। जिसमें कोलकाता की लता सिंह राजपूत और राजधानी के पवन मिश्रा भजनों की गंगा बहायेंगे।

श्रीनाथ मन्दिर की तर्ज पर यह आयोजन

इस मौके पर मनमोहक नृत्य नाटिका का मंचन भी होगा। अंत में 21किलों का केक कटेगा और 56 भोग लगेगा। उन्होंने बताया कि इस बार उत्सव का मुख्य आकर्षण भगवान को पालने में झुलाने का दृश्य होगा। मुख्य संरक्षक राधेमोहन अग्रवाल ने बताया कि भगवान केा पालने में झुलाने के लिए दो झूले तैयार हासे रहे है। एक राधा-कृष्ण तो दूसरे पर लडडू गोपाल को भक्त झुलायेंगे। उदयपुर के श्रीनाथ मन्दिर की तर्ज पर यह आयोजन किया जायेगा। भक्तों का मानना है कि इस दिन भगवान को पालने में झुलाने से संतान की प्राप्ति के अलावा सारे सुख की प्राप्ति होती है। उन्होंने बताया कि कार्यक्रम में कान्हा की वेशभूषा में 10 बच्चे आयेंगे उन्हें पुरुस्कृति भी किया जायेगा।

आकर्षित करेगी डिजिटल झांकी

श्याम परिवार लखनऊ के संगठन मंत्री सुधीश गर्ग ने बताया कि भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव के अवसर पर मन्दिर में पहली बार झांकी एवं मेले का आयोजन किया जा रहा है। 3 से 8 सितम्बर तक चलने वाले इस आयोजन में कोलकाता की डिजिटल मूविंग झांकी आकर्षण का केन्द्र रहेगी। उन्होंने बताया कि कोलकाता से आई मूविंग झांकियों में कृष्ण जन्म, माखन चोरी, नागलीला, वस्त्र लीला, सुदामा सतकार, पूतना वध, रास लीला, कृष्ण उपदेश, गोवर्धन पर्वत, लडडू गोपाल, कृष्ण की गाय, विष्णु लक्ष्मी जैसी दर्जनों झांकियां सज रही है। इसके अलावा कलकतिया पुष्प श्रंगार, आकर्षक कृष्ण लीलाएं, आलोकिक भव्य दर्शन होंगे। उन्होंने बताया कि झांकी के दर्शन भगवान की छठी 8 सितम्बर तक प्रतिदिन शाम 7 बजे से रात 11 बजे तक होंगे।

मेले का भी मिेलेगा आनन्द

सुधीश गर्ग ने बताया कि जहां एक ओर लोग एक सप्ताह भगवान की मनोरम झांकी का लुफ्त लेंगे तो वहीं मेले का भी आनन्द मिलेगा। मेले में खाने पीने के स्टाल के साथ ही झूले भी लग रहे हैं जिसका लोग भरपूर आनन्द लेंगे।

Ad Block is Banned