वीडियो कांफ्रेंसिंग से अयोध्या का भूमि पूजन देखेंगे आडवाणी और जोशी, प्रशासन ने की ये तैयारी

सूत्रों के मुताबिक ऐसे ऐसे 10 बड़े नामों की सूची तैयार है जो अयोध्या तो नहीं आ रहे, लेकिन उनको वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए भूमि पूजन का अयोध्या का कार्यक्रम दिखाया जाएगा।

अयोध्या. भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए 5 अगस्त को भूमि पूजन कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उपस्थित रहेंगे। जबकि भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और राम मंदिर आंदोलन के पुरोधा रहे लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी समेत दूसरे बुजुर्ग नेताओं को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए भूमि पूजन का कार्यक्रम दिखाया जाएगा। इन नेताओं के अयोध्या पहुंचने की उम्मीद न के बराबर है।


वीडियो कांफ्रेंसिंग से जुड़ेंगे ये नेता

उम्र, स्वास्थ्य और कोरोना संकट को देखते हुए प्रशासन इन नेताओं को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए भूमि पूजन दिखाने की व्यवस्था में जुटा है। सूत्रों के मुताबिक ऐसे ऐसे 10 बड़े नामों की सूची तैयार है जो अयोध्या तो नहीं आ रहे, लेकिन उनको वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए भूमि पूजन का अयोध्या का कार्यक्रम दिखाया जाएगा। यह सभी वीडियो कांफ्रेंसिंग से जुड़ेंगे।


मंच पर रहेंगे पांच लोग

सूत्रों की अगर मानें तो भूमि पूजन के दिन मंच पर पीएम मोदी को मिलाकर कुल पांच लोग उपस्थित रहेंगे। मंच पर पीएम मोदी, सीएम योगी आदित्यनाथ, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत, श्री राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास उपस्थित रहेंगे। इनके अलावा दो और संत भी मंज पर रहेंगे। इनके अलावा कोई नेता या संत मंच पर नहीं दिखेगा।

ये लोग भी रहेंगे उपस्थित

आपको बता दें कि भूमि पूजन कार्यक्रम में अवधेशानंद सरस्वती, उमा भारती, साध्वी ऋतंभरा, रामभद्राचार्य, इकबाल अंसारी, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, यूपी के पूर्व सीएम कल्याण सिंह और विनय कटियार को भी भूमि पूजन में शामिल होने के लिए निमंत्रण भेजा गया है। इसके अलावा भूमि पूजन कार्यक्रम में कोई केंद्रीय मंत्री शामिल नहीं होगा।

coronavirus
Show More
नितिन श्रीवास्तव Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned