लैपटाप पर बोले मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह - हम अखिलेश नहीं हैं, झूठ नहीं बोलते, वे पहले अपने झगड़े पिटाएं फिर बात करें

लैपटाप पर बोले मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह - हम अखिलेश नहीं हैं, झूठ नहीं बोलते, वे पहले अपने झगड़े पिटाएं फिर बात करें

Anil Ankur | Publish: Sep, 04 2018 05:06:32 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

सिद्धार्थनाथ सिंह का अखिलेश पर निशाना

लखनऊ। प्रदेश सराकर के प्रवक्ता और स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा है कि वे अखिलेश यादव की तरह झूठ नहीं बोलते। हम नए लैपटाप बटवाने जा रहे हैं। पहले अखिलेश अपने झगड़े दूर कर लें फिर बात करें और फिर तय कर लें कि महागठबंधन का नेतृत्व कौन करेगा। उसके बाद हमसे बात करें।

अखिलेश पर निशाना
सपा प्रमुख अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि लैपटॉप मामले में अखिलेश लोगों को भ्रमित कर रहे हैं। हम लोगों को नये लैपटॉप बांट रहे हैं। गौरतलब है कि अखिलेश यादव ने प्रदेश सरकार पर ट्वीट के जरिये निशाना साधते हुए कहा, अभी तक तो हमारे कामों को अपना बताकर उद्घाटन करते थे, रंग बदलते थे, अब हमारे द्वारा दिये गये लैपटॉप पर हमारी तस्वीरें बदल रहे हैं। बदलनी है तो आज भाजपा के शासनकाल में प्रदेश की जो दुर्गति हुई है, उस बदहाली की तस्वीर बदलें। इस बार जनता विकास-विरोधी प्रतिगामी भाजपा को ही बदल देगी।

सवाल था कि पुरान लैपटाप में तस्वीर बदल रही है सरकार
सरकार के प्रवक्ता से जब यह पूछा गया कि अखिलेश कह रहे हैं कि पुराने लैपटाप पर वे योगी और मोदी की तस्वीरें लगा कर बाटने की तैयारी में हैं, तो इसका जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि यह काम वे लोग करते होंगे। हम नए लैपटाप बाट रहे हैं। यह पूछे जाने पर कि इन लैपटापों में किसकी तस्वीरें होंगी। पिछली सरकार में अखिलेश यादव की तस्वीरें थीं। उन्होंने कहा जब लैपटाप बाटेंगे तो देखलीजिएगा कि किसकी तस्वीर लगी है उसमें।

सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि यूं तो उनके परिवार और उनकी पार्टी में क्या चल रहा है यह सब जग जाहिर है। हमें कुछ बताने की जरूरत नहीं है। उन्होंने फिर दौहराया कि आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में राज्य मंत्रिपरिषद की बैठक में आयुष्मान भारत ट्रस्ट मॉडल बनाने समेत 12 प्रस्तावों पर मुहर लगी। उत्तर प्रदेश सरकार के प्रवक्ता व स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह और ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने बताया कि राज्य सरकार आयुष्मान भारत ट्रस्ट मॉडल बनाएगी। इंश्युरेंस के बजाय बजाया अब ट्रस्ट के जरिये ही लाभार्थियों को पैसे दिये जाएंगे। उन्होंने बताया कि सरकार सूबे के हर सरकारी अस्पताल में आयुष्मान मित्रों की नियुक्ति करेगी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned