बरसों के इंतज़ार के बाद एलडीए को अपनी सबसे कीमती योजना के लिए मिली ज़मीन

जमीनों का अधिग्रहण अभियान 15 दिन तक चलेगा ।

By: Dikshant Sharma

Published: 13 Mar 2018, 08:30 PM IST

लखनऊ। काफी जद्दोजहद के बाद आखिरकार एलडीए की टीम ने मंगलवार को कई थानों की पुलिस व पीएसी बल के साथ मोहान रोड के कालिया खेड़ाए प्यारेपुर व उसके आस.पास के गांवों की पहले दिन कई हेक्टेयर जमीनों का अधिग्रहण शान्तिपूर्वक तरीके से कर लिया । जमीनों का अधिग्रहण अभियान 15 दिन तक चलेगा ।


काकोरी के कलिया खेड़ा व प्यारेपुर की जमीनों पर एलडीए पिछले कई वर्षों से कब्ज़ा करने का प्रयास कर रही है। ग्रामीणों के विरोध के चलते हर बार अधिकारी जमीनों का अधिग्रहण किये बिना वापस लौट जाते थे । मंगलवार को एकबार फिर एलडीए की टीम ने कालिया खे?ाएप्यारे पुर एबीबी खे?ा एअजितन खे?ा आदि गांवों की जमीनों पर कब्ज़ा करने कई थानों की पुलिस के साथ पहुंचे और किसानों के विरोध के बिना सान्ति पूर्वक जमीनों का अधिग्रहण कर अपने पिलर गा?े ।इससे पहले कई बार अधिग्रहण के समय एलडीए की टीम का किसानों व प्रापर्टी डीलरों के साथ विवाद हुआ। जिसमें एलडीए के कर्मचारियों सहित ठेकेदार घायल हुए थे ।

किसानों ने लगाया आरोप
किसानों का आरोप है कि जिन जमीनों की कीमत करोड़ों में है उसे एलडीए महज चंद लाख में ही अधिग्रहित कर रही है । वह पास पास में स्थित सभी गांवों का अलग.अलग रेट दे रही है जो किसानों को स्वीकार नहीं है । एलडीए के अधिशासी अभियंता एके सिंह ने बताया की बीते दिनों पुलिस के असहयोग के चलते किसानों सहित अन्य लोगों ने टीम पर हमला बोल दिया था।जिसमें ठेकेदार सहित एलडीए के कई कर्मचारी चोटिल हो गए थे । मंगलवार को डीएम व एसएसपी को प्रार्थना पत्र देकर पुलिस व पीएसी फोर्स की माँग की थी । जिसके बाद कई थानों की पुलिसएपीएसी सहित जिला प्रशासन के अधिकारियों की उपस्थिति में एलडीए ने किसानों के कब्ज़े से जमीनों को मुक्त कर अपने कब्ज़े में लिया है ।

Dikshant Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned