LIC Aadhaar Shila : एलआईसी लेकर आया है आधार शिला प्लान, खासकर महिलाओं के लिए है ये इंश्योरेंस पॉलिसी

- मैच्योरिटी के समय बीमाधारक की आयु 70 साल से ज्यादा नहीं होनी चाहिए।
- एलआईसी आधार शिला प्लान को अधिकतम 55 साल की महिला खरीद सकती है।
- भारतीय जीवन बीमा निगम ने इस पॉलिसी को विशेष रूप से महिलाओं के लिए लॉन्च किया है।

By: Neeraj Patel

Updated: 07 Sep 2020, 08:40 PM IST

लखनऊ. कोरोना काल में दौड़भाग भरे जीवन में इंश्योरेंस पॉलिसी का महत्व अब काफी बढ़ गया है। व्यक्ति अपनी आवश्यकता और प्राथमिकता को देखते हुए बीमा पॉलिसी का चुनाव कर सकता है। एक बीमा पॉलिसी निवेश, स्वास्थ्य और लाइफ कवर तीनों चीजें लेकर आती है। भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) विभिन्न वर्गों के लोगों की आवश्यकता के हिसाब से इंश्योरेंस पॉलिसीज की पेशकश करता है। एलआईसी की ऐसी ही एक पॉलिसी है आधार शिला प्लान (Aadhaar Shila Plan)। यह एलआईसी आधार शिला नाम से भी लोकप्रिय है।

लखनऊ निवासी एलआईसी एजेंट शिव कुमार ने बताया है कि भारतीय जीवन बीमा निगम ने इस पॉलिसी को विशेष रूप से महिलाओं के लिए लॉन्च किया है। एलआईसी यह पॉलिसी एक फरवरी 2020 को लेकर आया था। यह प्लान उन महिलाओं के लिए है, जिनके पास आधार कार्ड है। यह बात इस पॉलिसी के नाम से भी प्रतीत होती है। एलआई की यह पॉलिसी बीमाधारक को सेविंग का विकल्प तो देती ही है, साथ ही लाइफ कवर भी उपलब्ध कराती है। पॉलिसी की मैच्योरिटी के समय बीमाधारक को एकमुश्त रकम प्रदान की जाती है। बीमाधारक की मृत्यु की स्थिति में परिवार को सहायता राशि भी प्रदान की जाती है।

एलआईसी आधार शिला प्लान को अधिकतम 55 साल की महिला खरीद सकती है। वहीं, इस प्लान के लिए न्यूनतम आयुसीमा आठ साल है। पॉलिसी की शर्तों के अनुसार, मैच्योरिटी के समय बीमाधारक की आयु 70 साल से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। इस प्लान में मैच्योरिटी अवधि 10 साल से 20 साल तक होती है। साथ ही इस पॉलिसी में ऑटो कवर व लोन सुविधा भी उपलब्ध है, जो बीमाधारक की लिक्विडिटी की आवश्यकता को पूरा करने में मदद करती है।

कितनी है बीमा राशि

इस प्लान को न्यूनतम बेसिक बीमा राशि 75,000 रुपए के साथ लिया जा सकता है। वहीं, अधिकतम बेसिक बीमा राशि तीन लाख रुपए है। एलआईसी आधार शिला प्लान में वार्षिक, छमाही, तिमाही या मासिक आधार पर प्रीमियम का भुगतान किया जा सकता है। बीमा धारक ऑटो डेबिट के विकल्प को भी चुन सकते हैं। बीमाधारक की मृत्यु होने पर सहायता राशि भी दी जाती है। अगर बीमाधारक की पहले पांच सालों के अंदर ही मृत्यु हो जाती है, तो मृत्यु पर बीमित राशि प्रदान की जाती है। अगर पॉलिसी के पांच साल पूरे होने के बाद और मैच्योरिटी से पहले बीमाधारक की मृत्यु होती है, तो मृत्यु और लॉयल्टी एडिशन पर बीमित राशि प्रदान की जाती है।

एलआईसी आधार शिला पॉलिसी की मैच्योरिटी के समय बीमाधारक को मैच्योरिटी और लॉयल्टी एडिशन के साथ बीमित राशि प्रदान की जाती है। पॉलिसी के पांच साल पूरे होने के बाद बीमाधारक के पॉलिसी छोड़ने पर लॉयल्टी एडिशन प्रदान किया जाता है। यह पॉलिसीधारक की मृत्यु या मैच्योरिटी दोनों ही परिस्थिति में प्रदान किया जाता है। यहां शर्त है कि बीमाधारक द्वारा पूरे पांच सालों के प्रीमियम का भुगतान किया होना चाहिए।

Read This - LIC Kanyadan Yojana : अब हर माता-पिता को बेटी की शादी के बोझ से मिलेगी राहत, मात्र 121 रुपए रोजाना की बचत से मिलेगा 27 लाख तक का रिटर्न

Show More
Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned