लाइफ इंश्योरेंस के नाम पर की 86 लाख की धोखाधड़ी, एटीएस ने 43 को किया गिरफ्तार

फर्जी कॉल सेंटर के जरिये लाइफ इंश्योरेंस के नाम पर लोगों से हुई लाखों रुपये की ठगी।

By: Dhirendra Singh

Published: 18 Aug 2017, 03:21 PM IST

लखनऊ. बीमा कंपनी के पास लोग अपने जीवन के बाद आश्रितों को सुरक्षित करने की आश में लाइफ इंश्योरेंस कराने जाते हैं। ताकि वह अपनी करीबियों को अपने साथ कुछ अप्रिय होने के बाद भी खुश दे सकें। लेकिन धोखाधड़ी करने वाले अब उन्हें भी अपना शिकार बनाने से नहीं चूक रहे हैं। फर्जी कंपनियां तैयार कर जालसाज लाइफ इंश्योरेंस की पालिसी में बोनस व मैच्युरिटी में ज्यादा लाभ का लालच देकर उन्हें अपना निशाना बना रहे हैं। ऐसे ही एक गिरोह से जुड़े 9 मास्टर माइंड समेत 43 आरोपियों को यूपी एसटीएफ ने गिरफ्तार किया है। इनकी पहचना कपिल त्यागी, गौरव शर्मा, अर्जुन सिंह समेंत अन्य शामिल हैं।

एसटीएफ के मुताबिक 27 मार्च को ले. कर्नल राममान सिंह निवासी हरिहरगंज ने थाना कोतवाली में केस दर्ज कराया था। जिसमें आरोप था कि आई.सी.आई.सी.आई. प्रूडेंशियल लाइफ इंश्यारेंस की पॉलिसी में बोनस देने व मैच्युरिटी का पैसा दिलान के नाम पर आर. बी सर्विसेस, बिओलो सर्विसेस, एस.बी.पी सैल्यूसन व गोल्डेन सिर्विसेस आदि कम्पनियों द्वारा 86 लाख 77 हजार रूपये की ठगी की गई, व फर्जी नामों से विभिन्न कम्पनी बनाकर करोड़ो़ रुपये की धोखाधड़ी की जा रही हैं। इस मामले को संज्ञान में लेते हुए उप महानिरक्षक एसटीएफ मनोज तिवारी व टीम ने जांच शुरू की। गुप्त सूचना के आधार पर पता चला कि पश्चिमी यूपी के जनपद गौतमबुद्धनगर में फर्जी कम्पनी बनाकर आई.सी.आई.सी.आई. प्रूडेंशियल लाइफ इंश्योरेंस प्रा.लि. व एच.डी.एफ.सी ऐर्गो इंश्योरेंस प्रा.लि. के नाम पर कालिंग करने वाले गिरोह सक्रिय है। अपर पुलिस अधीक्षक त्रिवेणी सिंह के नेतृत्व में एक टीम नोएडा जा पहुंची। यहां सेक्टर 11 एफ 58 व सेक्टर 64 बी-118 से गैंग के 9 सक्रिय सरगना सहित 43 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। पूछताछ में मुख्य सरगनाह कपिल त्यागी ने कई वर्षों से कम्पनी के नाम-पते बदलकर लाइफ इंश्योरेंस की पॉलिसी में बोनस देने व मैच्युरिटी का पैसा दिलाने के नाम पर काॅलिंग कर लोगों से ठगी कर रहे थे। वहीं ठगी का पैसा अलग-अलग खातों में जमा कराया जा रहा था। फिलहाल क्राइम ब्रांच की साइबर सेल इस मामले में आगे की जांच कर रही है।

Show More
Dhirendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned