पशुधन भर्ती घोटाला : आईपीएस अरविंद सेन की संपत्ति होगी कुर्क, गैर जमानती वारंट जारी

- पुलिस ने दाे आरोपित के खिलाफ कोर्ट में डाली अर्जी
- एसआईटी ने पशुधन अधिकारियों की भर्ती में घोटाले का किया पर्दाफाश

By: Neeraj Patel

Published: 18 Dec 2020, 01:34 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
लखनऊ. उत्तर प्रदेश के बहुचर्चित पशुधन भर्ती घोटाले के आरोपियों की मदद करने वाले आईपीएस अरविंद सेन की संपत्ति कुर्क की जाएगी। इसके लिए पुलिस ने आईपीएस अरविंद सेन और एक अन्य आरोपी अमित मिश्रा की संपत्ति कुर्क कराने के लिए कोर्ट में अर्जी डाली है। इससे पहले एसीपी गोमतीनगर श्वेता श्रीवास्तव ने फरार चल रहे आईपीएस अरविंद सेन पर 25 हजार का इनाम घोषित किया। यही नहीं, उनके खिलाफ कोर्ट से गैर जमानती वारंट भी जारी हो चुका है, बावजूद इसके अरविंद सेन फरार चल रहे हैं। एसटीएफ और क्राइम ब्रांच की टीमें भी उनकी तलाश में जुट गई हैं।

मामले में पुलिस का कहना है कि आरोपित को भगौड़ा घोषित कर संपत्ति कुर्क करने की तैयारी की जा रही है। अरविंद सेन और अमित मिश्र अभी तक हाजिर नहीं हुए हैं। आरोपियों के खिलाफ इनाम की धनराशि बढ़ाने को लेकर भी विचार किया जा रहा है। वहीं, आईपीएस खुद को बचाने के लिए तरह तरह के हथकंडे अपना रहे हैं और पुलिस पर दबाव बना रहे हैं। आरोपी आईपीएस की तलाश में दबिश दी जा रही है। बता दें कि इस मामले में कड़ा रुख अख्तियार करते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने दोनों आईपीएस अफसरों दिनेश चंद्र दुबे और अरविंद सेन को निलंबित कर दिया है।

एसआईटी ने भर्ती में घोटाले का किया पर्दाफाश

2012-13 में पशुधन अधिकारियों की भर्ती में हुए घोटाले पर मुख्यमंत्री योगी के आदेश पर एसआईटी ने भर्ती में घोटाले का पर्दाफाश किया है। जांच में पाया गया कि भर्ती में मनमाने तरीके से मानकों को दरकिनार किया गया। प्रदेश भर में 1148 पशुधन प्रसार अधिकारियों की हुई भर्ती में मनपसंद अभ्यर्थियों को चुना गया। योगी सरकार ने 28 दिसंबर, 2017 को मामले की जांच एसआईटी को सौंपी थी।

Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned