बिना लड़े ही चुनाव 'हार' गये यूपी के यह 37 नेता, अपनी गलतियों का भुगतना पड़ा खामियाजा

बिना लड़े ही चुनाव 'हार' गये यूपी के यह 37 नेता, अपनी गलतियों का भुगतना पड़ा खामियाजा

Hariom Dwivedi | Publish: Apr, 21 2019 01:47:39 PM (IST) | Updated: Apr, 21 2019 01:50:35 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

- लखनऊ लोकसभा सीट से 51 उम्मीदवारों ने भरा था पर्चा
- दस्तावेजों में कमियों के चलते 37 का पर्चा खारिज
- लखनऊ लोकसभा सीट पर 15 दावेदार
- मोहनलालगंज लोकसभा सीट पर 36 उम्मीदवारों ने भरा था पर्चा
- दस्तावेजों में कमियों के चलते 13 उम्मीदावरों का पर्चा खारिज
- मोहनलालगंज लोकसभा सीट पर अब 12 दावेदार
- मोदी-योगी के हमशक्ल अभिनंदन पाठक और सुरेश ठाकुर का भी पर्चा खारिज

लखनऊ. लोकसभा चुनाव में राजधानी लखनऊ और उससे सटी मोहनलाल गंज लोकसभा सीट से अपनी दावेदारी पेश कर रहे 49 उम्मीदवार बिना लड़े ही चुनाव हार गये हैं। जिला निर्वाचन अधिकारी कौशलराज शर्मा की स्क्रीनिंग कमेटी ने जांच के बाद 49 प्रत्याशियों के नामांकन खारिज कर दिये। अब सिर्फ 27 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। इनमें से किसी प्रत्याशी के फॉर्म में प्रस्तावक की डिटेल नहीं भरी थी तो कोई हस्ताक्षर करना ही भूल गया। मोबाइल नंबर न भरने सहित हुई गलतियों के चलते करीब आधा सैकड़ा नामांकन निरस्त कर दिये गये। इस लिस्ट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तरह दिखने वाले उनके हमशक्ल भी शामिल हैं। लखनऊ सीट से नामांकन कर दोनों सुर्खियों में आये थे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हमशक्ल अभिनंदन पाठक ने फॉर्म में कई जरूरी कॉलम छोड़ दिये थे, जिसके चलते उनका नामांकन निरस्त हुआ, वहीं योगी आदित्यनाथ की तरह वेशभूषा रखकर नामांकन करने वाले मौलिक अधिकार पार्टी के सुरेश ठाकुर का पर्चा इसलिए खारिज किया गया, क्योंकि उन्हें सरकारी नौकरी से बर्खास्त किया गया था, जिसके चलते वह पांच साल तक कोई चुनाव नहीं लड़ सकते हैं। जिन प्रत्याशियों का नामांकन खारिज हुआ, उसमें प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी राकेश कुमार ठकुराल का भी नाम है। उन्होंने नामांकन भी खारिज कर दिया है। उन्होंने नियमानुसार चार शपथपत्र की जगह दो ही शपथपत्र अपने नामांकन पत्र के साथ दाखिल किए थे।

37 Nomination rejected

लखनऊ में 15 और मोहनलालगंज में 12 प्रत्याशी मैदान में
राजधानी की दो लोकसभा सीटों पर भाग्य आजमाने के लिए इस बार 76 प्रत्याशियों ने नामांकन किया था। इनमें लखनऊ सीट के लिए 51 और मोहनलालगंज सीट के लिए 25 लोगों ने पर्चा भरा था। लखनऊ लोकसभा सीट पर 36 उम्मीदवारों के और मोहनलालगंज सीट पर 13 उम्मीदवारों के नामांकन पत्र में गड़बड़ी पाये जाने के बाद उनका नामांकन निरस्त कर दिया गया। अब लखनऊ में 15 और मोहनलालगंज में 12 प्रत्याशी ही चुनाव मैदान में हैं।

पर्चा खारिज होते ही किया हंगामा
नामांकन पत्र खारिज होने की खबर मिलते ही प्रत्याशियों के सपने चकनाचूर हो गये। गुस्साए लोगों ने कलेक्ट्रेट के सामने हंगामा करना शुरू कर दिया। प्रत्याशियों ने प्रशासन पर जान-बूझकर पर्चा खारिज करने का आरोप लगाया। प्रत्याशियों के नामांकन पर रिटर्निंग ऑफिसर की ओर से जांच और उसके बारे में बताये जाने की वीडियोग्राफी कराई गई, जिसे प्रत्याशियों की दिखाया भी गया। हंगामा कर रहे ज्यादातर प्रत्याशियों में से कुछ अपनी कमी को देखने के बाद चुपचाप चले गये। बाद में अन्य भी भी शांत हो गये।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned