scriptLPG cylinder price hiked: The price of a gas cylinder in Delhi reached | LPG सिलेंडर के दाम बढ़े: दिल्ली, मुंबई में एक गैस सिलेंडर की कीमत 2355 रु पहुंची | Patrika News

LPG सिलेंडर के दाम बढ़े: दिल्ली, मुंबई में एक गैस सिलेंडर की कीमत 2355 रु पहुंची

भारत के लगभग हर राज्य में आज एक मई से सिलेन्डर के दाम बढ़ा दिया गए हैं। जिसमे घरेलू और कमर्शियल दोनों ही शामिल हैं।

लखनऊ

Updated: May 01, 2022 08:54:53 pm

देश भर में मई महीने के पहले दिन यानी 1 मई को 19 किलो वाले कॉमर्शियल LPG सिलेंडर की कीमत 102 रुपए महंगी हो गई है। जिसका असर हर वर्ग पर तेजी से पड़ेगा। वहीं राजधानी दिल्ली में अब नए सिलेंडर की कीमत 2355 रुपए होगी। हालांकि, घरेलू सिलेंडरों की कीमतों में कोई इजाफा नहीं हुआ है। इससे पहले कॉमर्शियल सिलेंडरों के दाम 1 अप्रैल को बढ़े थे। तक इसकी कीमत में 250 रुपए का इजाफा किया गया था। लेकिन अब बढ़ती महंगाई पर एक और वार से जनता बेहाल होने जा रही है।
File Photo of Cylender rate
File Photo of Cylender rate
Indian Oil Cylender Rate

19 किग्रा कॉमर्शियल गैस सिलेंडर की नई कीमतें इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (IOC) के अनुसार 19 किलोग्राम का एलपीजी सिलेंडर आज राजधानी दिल्ली खरीदने पर आपको 2355.50 रुपए देने होंगे। 30 अप्रैल तक इसकी कीमत 2253 रुपए थी। वहीं, कोलकाता में पहले 2351 रुपए में मिल रहा था अब 2455 रुपए खर्च करने पड़ेंगे। मुंबई में 2205 रुपए की जगह आज से 2307 रुपए देने होंगे। वहीं तमिलनाडु के चेन्नई में कॉमर्शियल सिलेंडर की कीमतें 2406 रुपए से बढ़कर अब 2508 रुपए हो गई है।
Date Delhi Mumbai Kolkata Chennai

1 मई 2022 2355 2307 2455 2508

1 अप्रैल 2022 2253 2205 2351 2406

22 मार्च 2022 2003 1954.5 2087 2137.5

1 मार्च 2022 2012 1963 2095 2145.5
1 फरवरी 2022 1907 1857 1987 2040

1 जनवरी 2022 1998.5 1948.5 2076 2131

1 दिसंबर 2021 2101 2051 2177 2234.5

1 नवंबर 2021 2005.5 1950 2073.5 2133

1 अक्टूबर 2021 1736.5 1685 1805.5 1867.5
भारत में अब तक की सबसे बड़ी महंगाई 2014 से लेकर शुरू

भारत को साल 1947 में आजादी मिली थी और उस वक्त 50 के दशक में महंगाई की दर करीब 2 पर्सेंट थी. लेकिन 1950 से 60 के बीच में महंगाई दर में उतरा चढ़ाव रहा और 1956-57 के बीच औद्योगीकरण के उपायों के कारण यह 13.8 प्रतिशत हो गई थी. लेकिन इस दशके अंत में यह दर फिर से 3-7 फीसदी तक आ गई. जबकि अब तक की सबसे बड़ी गिरावट और महंगाई को 2014 के बाड़े से नोट किया गया है। नवंबर 2018 के बाद जिस तरह से नोट बंदी लागू की गई उससे व्यापारी वर्ग ज्यादा परेशान हुआ है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्सयहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतिशुक्र का मेष राशि में गोचर 5 राशि वालों के लिए अपार 'धन लाभ' के बना रहा योगराजस्थान के 16 जिलों में बारिश-आंधी व ओलावृ​ष्टि का अलर्ट, 25 से नौतपाजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथइन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठा7 फुट लंबे भारतीय WWE स्टार Saurav Gurjar की ललकार, कहा- रिंग में मेरी दहाड़ काफीशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफ

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी केसः बहस पूरी, 1991 का वर्शिप एक्ट लागू होगा या नहीं, कल होगा फैसला, जानें सुनवाई से जुड़ी हर बातबीजेपी नेता किरीट सोमैया की पत्नी ने शिवसेना के संजय राउत के खिलाफ दर्ज कराया 100 करोड़ का मानहानि का मुकदमालैंड होते ही झटके से रूक गया यात्री विमान, सांस थामे बैठे रहे यात्रीजम्मू और कश्मीर: आतंकियों के निशाने पर सुरक्षा बल, श्रीनगर में जारी किया गया रेड अलर्टजापान में पीएम मोदी का जोरदार स्वागत, टोक्यो में जापानी उद्योगपतियों से की मुलाकातऑक्सफैम ने कहा- कोविड महामारी ने हर 30 घंटे में बनाया एक नया अरबपति, गरीबी को लेकर जताया चौंकाने वाला अनुमानसंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजरबिहार में पटरियों पर धरना-प्रदर्शन के चलते 23 ट्रेनें रद्द, 40 डायवर्ट की गईं
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.