दोनों बिल से किसान अपनी ही ज़मीन पर मज़दूर बन जाएंगे : अखिलेश यादव

अखिलेश यादव ने कहाकि, भाजपा सरकार खेती को अमीरों के हाथों गिरवी रखने के लिए शोषणकारी विधेयक लाई है।

By: Mahendra Pratap

Updated: 18 Sep 2020, 04:16 PM IST

लखनऊ. किसानों से जुड़े दो बिल गुरुवार को लोकसभा में ध्वनिमत से पारित कर दिए गए। कृषि से संबंधित बिलों को लेकर देश में विरोध बढ़ता ही जा रहा है। राजनीतिक दल और नेता विरोध में झंड़े बुलंद कर रहे हैं। समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी चुप्पी तोड़ी है। अखिलेश यादव ने कहाकि, भाजपा सरकार खेती को अमीरों के हाथों गिरवी रखने के लिए शोषणकारी विधेयक लाई है।

समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपने ट्विट में लिखा कि, भाजपा सरकार खेती को अमीरों के हाथों गिरवी रखने के लिए शोषणकारी विधेयक लाई है। ये खेतों की मेड़ तोड़ने का षड्यंत्र है और साथ ही एमएसपी सुनिश्चित करनेवाली मंडियों के धीरे-धीरे खात्मे का भी। भविष्य में किसानों की उपज का उचित दाम भी छिन जाएगा और वो अपनी ही ज़मीन पर मज़दूर बन जाएंगे। किसानों से जुड़े दो बिल को लेकर भाजपा सरकार में केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने इस्तीफा दे दिया, उन्होंने इन बिलों को किसान विरोधी बताया।

Show More
Mahendra Pratap Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned