अखिलेश यादव ने सपा की 'एम वाई' समीकरण की दी नई परिभाषा, चौंक गए सब

- भाजपा के शासन से आजिज आई जनता इस बार सपा की ओर देख रही है : अखिलेश यादव

By: Sanjay Kumar Srivastava

Published: 15 Sep 2021, 02:06 PM IST

लखनऊ. Muslim Yadav Equation एमवाई (मुस्लिम - यादव) समीकरण पर अपना पक्ष रखते हुए समाजवादी पार्टी सुप्रीमो अखिलेश यादव ने कहाकि, एम का मतलब महिला और वाई का मतलब युवा है। इन दोनों को साथ लेकर चुनाव लड़ेंगे। यह नई सपा है। नया रास्ता अपनाया जा रहा है।

सपा की ओर देख रही है जनता :- एक टीवी चैनल के कार्यक्रम में सवालों का जवाब देते हुए समाजवादी पार्टी राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहाकि, उत्तर प्रदेश के नवनिर्माण, किसानहित और रोजगार के मुद्दे पर चुनाव लड़ेंगे। भाजपा के शासन से आजिज आई जनता इस बार सपा की ओर देख रही है।

परिवारवाद तो भाजपा में है :- परिवारवाद के आरोपों को सिरे से काटते हुए सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने कहाकि, परिवारवाद तो भाजपा में है। वहां जिन लोगों ने काम करते हुए पूरा जीवन बिता दिया, उनके बजाय किसी और को मुख्यमंत्री बनाया जाता है। उन्होंने कहाकि, सपा में हमेशा संघर्ष करने वालों को जगह मिली है। चाचा और उनकी पार्टी अलग-अलग है। शिवपाल सिंह यादव का रिश्ते के लिहाज से पूरा सम्मान है। समान विचारधारा वाली पार्टियों के साथ गठबंधन हो रहा है। अन्य बड़ी पार्टियों से गठबंधन नहीं होगा क्योंकि बड़ी पार्टी से गठबंधन का अनुभव ठीक नहीं रहा है।

भाजपा लूट रही है झूठी वाहवाही :- विकास के मुद्दे पर भाजपा को आईना दिखाते हुए सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने कहाकि, भाजपा के लोग झूठी वाहवाही लूट रहे हैं। सपा सरकार के कार्यकाल में बने मेडिकल कॉलेज लोगों की जान बचाने में काम आए हैं। भाजपा ने कोई काम नहीं किया है। अयोध्या में विकास के नाम पर सैकड़ों साल से रह रहे लोगों को घर गिरा दिए गए।

कोरोना वायरस अपडेट : ऑस्ट्रेलियाई सांसद मंत्री जेसन वुड ने सीएम योगी की प्रशंसा की, पीएम मोदी ने भी पीठ थपथपाई

Sanjay Kumar Srivastava
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned