री-चेकिंग के बाद लखनऊ के तथागत बने देश के दूसरे टॉपर

री-चेकिंग के बाद लखनऊ के तथागत बने देश के दूसरे टॉपर
tathagat

| Updated: 07 Jul 2017, 12:53:00 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

आईएससी बोर्ड रिजल्ट में राजधानी के तथागत भाटिया देश के दूसरे टॉपर बन गए हैं, पढ़ें उनकी सक्सेस स्टोरी

लखनऊ. आईएससी बोर्ड रिजल्ट में राजधानी के तथागत भाटिया देश के दूसरे टॉपर बन गए हैं। आईएससी के रिजल्ट तो मई में आ गए थे लेकिन एक सबजेक्ट में मार्केस कम रहने पर संदेह के कारण तथागत के शिक्षक ने  रीचेकिंग के लिए कहा। रीचेकिंग में तथागत के मार्क्स 98.5% से 99.25% हो गए। इस तरह से तथागत आईएससी बोर्ड के दूसरे टॉपर बन गए।

राजधानी के जयपुरिया स्कूल के पढ़ने वाले तथागत ने पॉलिटिकल साइंस में 97 अंक प्राप्त किए थे। उनके टीचर का मानना था जब सारे सवाल तथागत सही करके आए हैं तो उनके पूरे 100 नंबर क्यों नहीं आए। तथागत ने रीचेकिंग के अप्लाई किया। अब रीचेकिंग के बाद आईएससी बोर्ड की ओर से ई-मेल आया कि तथागत के पॉलिटिकल साइंस में मार्क्स 97 से 100 कर दिए गए हैं। इस कारण उनका पर्सेंटेज 98.5% से 99.25% हो गया।

तथागथ का कहना है कि पर्सेंटेज बढ़ने का श्रेय उनके पॉलिटिकल साइंस के शिक्षक को जाता है जिनकी सलाह पर उन्होंने रीचेकिंग के लिए अप्लाई किया। तथागत हाल ही में नीदरलैंड से लौटे हैं जहां उन्होंने भारत को इंटरनेशनल फिलॉस्फी ओलंपियाड में रिप्रेजेंट किया था। अब वह यूएस जा रहे हैं जहां पर वह पेनसिल्वानिया यूनिवर्सिटी में ग्रेजुएशन की पढ़ाई करेंगे।

जयपुरिया स्कूल की प्रिंसिपल प्रॉमिनी चोपड़ा ने भी तथागत की इस कामयाबी पर खुशी जताई है। 29 मई को जब आईएससी बोर्ड का रिजल्ट आया था तो तथागत का नाम टॉप फाइव की लिस्ट में नहीं था। स्कूल मैनेजमेंट को इस पर थोड़ी मायूसी भी हुई थी लेकिन अब सभी शिक्षक बेहद खुश हैं।

तथागत भाटिया की बड़ी बहन अनुश्री भाटिया जो कि अमेरिका के बोस्टन में स्थित माउंट होलीओक इंस्टीट्यूट से ग्रेजुएशन कर रही हैं उन्होंने अपने भाई को ह्यूमिनिटीज में अच्छा कॅरियर बनाने के लिए प्रेरित किया।

तथागत को अंतर्राष्ट्रीय संबंधों पर डिबेट करना काफी अच्छा लगता है। वह दूसरे देशों के बारे में काफी कुछ पढ़ते रहते हैं। बहन अनुश्री को अमेरिका में पढ़ाई करने के लिए अमेरिकन गवर्मेंट 83 प्रतिशत स्कॉलरशिप दे रही है। आगे तथागत अपनी बहन की प्रेरणा से ही ह्यूमिनिटीज की पढ़ाई करेंगे।तथागत भाटिया कहते हैं कि उन्होंने रेग्युलर स्ट्डी व क्लासरूम टीचिंग पर फोकस किया। वह कहते हैं कि अपने जीवन का लक्ष्य आप हाईस्कूल से पहले ही निर्धारित कर लें और उसके बाद उसे हासिल करने के लिए दिन रात मेहनत करें।
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned