एसटीएफ करेगी बिजली गुल होने की जांच, नाराज सीएम योगी ने कहा, दोषी पाए जाने पर सख्त कार्रवाई

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) ने कृष्णा जन्माष्टमी (Janmashtami) के दिन लखनऊ, गोरखपुर, वाराणसी, मथुरा व मेरठ (The Power Crisis Happened In Five Districts In Uttar Pradesh) सहित कई जिलों में बिजली गुल होने के मामले को गंभीरता के साथ लेते हुए इस पूरे मामले की जांच एसटीएफ (STF) को सौंप दी है।

By: Mahendra Pratap

Updated: 13 Aug 2020, 04:10 PM IST

लखनऊ. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) ने कृष्णा जन्माष्टमी (Janmashtami) के दिन लखनऊ, गोरखपुर, वाराणसी, मथुरा व मेरठ (The Power Crisis Happened In Five Districts In Uttar Pradesh) सहित कई जिलों में बिजली गुल होने के मामले को गंभीरता के साथ लेते हुए इस पूरे मामले की जांच एसटीएफ (STF) को सौंप दी है। साथ ही बेहद सख्त लहजे के साथ सीएम योगी ने कहा, दोषी पाए गए लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा (Energy Minister) ने दो अधिकारियों को निलंबित कर दिया है। उनके खिलाफ जांच के भी आदेश दिए हैं। मंत्री ने 24 घंटे के भीतर रिपोर्ट तलब की है।

बुधवार को अचानक कई जिलों की बिजली चली गई लेकिन घरों में लगे स्मार्ट मीटर चालू थे। जिन क्षेत्रों में बिजली बंद हुई उनमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा के क्षेत्र आते हैं। बिजली जाने की इस घटना से जिलों में हड़कंप मच गया। और अफसरों की हालात पस्त हो गई है। शक्ति भवन में अफरातफरी मच गई थी। आला अधिकारी शक्ति भवन में डटे रहे और तकनीकी गड़बड़ी दुरुस्त कर आपूर्ति बहाल कराने की कोशिश करते रहे। छानबीन में पता चला कि शक्ति भवन में जहां से स्मार्ट मीटरों की ऑनलाइन निगरानी होती है, वहां के सर्वर से डिस्कनेक्ट कमांड दब जाने से यह दिक्कत हुई। पावर कॉर्पोरेशन के अधिकारियों का दावा है कि तकनीकी कारणों से समस्या आई। ज्यादातर उपभोक्ताओं की बिजली पुन: चालू करा दी गई है। हालांकि, कई जगहों पर अब भी दिक्कत बनी हुई है।

Show More
Mahendra Pratap Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned