खुशखबर : यूपी की शादियों में बैंडबाजा और डीजे खूब बजाइए, नाचिये और गाइये, कोई नहीं रोकेगा

-आदेश : शादी समारोहों के लिए अनुमति जरूरी नहीं
-राहत : बारातियों की निर्धारित संख्या 100 में बैंड बाजे वाले शामिल नहीं
-ऐक्शन : गाइडलाइन के नाम पर उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं, पुलिस पर कठोर कार्रवाई

By: Mahendra Pratap

Published: 26 Nov 2020, 05:24 PM IST

लखनऊ. कोरोना की वजह से शादी समारोहों के लिए हो रही सख्ती से जनता परेशान हो रही है। बारातियों की संख्या के उहापोह में फंसे रोजाना गिनती गिन रहे हैं। पर अब मत घबराइए, यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने एक बड़ी राहत का ऐलान कर मामले को पूरी तरह शीशे की तरह साफ कर दिया है। अब शादियों में बैंडबाजा और डीजे खूब बजाइए, नाचिये और गाइये। और शादी का लुत्फ उठाइए। पर कोरोना गाइडलाइन का पालन जरूर कीजिए। यूपी सीएम योगी ने अपने नए निर्देश में कहाकि, शादी के लिए अनुमति जरूरी नहीं है। साथ बारातियों की निर्धारित संख्या 100 में बैंड बाजे वाले शामिल नहीं माने जाएंगे। बैंड बजाने, डीजे बजाने से रोकने वाले अधिकारियों व पुलिसकर्मियों पर कठोर कार्यवाही होगी।

शादी के लिए सिर्फ शादी की सूचना काफी :- मुख्यमंत्री योेगी ने कहाकि, लोग सिर्फ सूचना देकर कोविड प्रोटोकाल और गाइडलाइन के सभी निर्देशों का पालन करते हुए विवाह समारोह का आयोजन कर सकते हैं। अब शादी के लिए किसी को भी पुलिस या प्रशासनिक अनुमति की कोई आवश्यकता नहीं है। विवाह समारोह में निर्धारित लोगों की संख्या पर भी स्थिति स्पष्ट करते हुए सीएम योगी ने कहाकि, बैंड बाजा या अन्य कर्मचारी लोगों की निर्धारित संख्या में शामिल नहीं माने जाएंगे।

उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं : सीएम योगी

पुलिस विभाग पर सख्ती करते हुए सख्त निर्देश देते हुए सीएम योगी ने कहाकि, यूपी में कहीं से भी पुलिस दुर्व्यवहार की शिकायत आई तो सख़्त कार्रवाई की जाएगी। गाइडलाइन के नाम पर उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं होगा, लोगों को जागरूक करें, गाइडलाइन का पालन करने के लिए प्रोत्साहित करें। उन्होंने कहा कि बैंड बजाने, डीजे बजाने से रोकने वाले अधिकारियों व पुलिसकर्मियों पर कठोर कार्यवाही होगी। मामले में अफसरों की जवाबदेही भी तय होगी।

सख्ती का आदेश :- यूपी में अचानक कोरोना की संख्या में बढ़ोत्तरी को देखते हुए योगी सरकार ने सामूहिक आयोजनों पर पाबंदी लगाने का फैसला किया था। सीएम योगी ने शादी-समारोहों में 200 से की संख्या को घटाकर 100 लोगों को शामिल होने का नया निर्देश जारी किया। शादी में शामिल होने वालों के लिए मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन जरूरी बताया गया है।

लखनऊ में धारा 144 को एक दिसंबर तक बढ़ाया गया :- जेसीपी कानून व्यवस्था नवीन अरोरा ने कमिश्नरेट में धारा 144 को एक दिसंबर तक बढ़ा दिया है। बताया कि 27 नवंबर को ग्यारहवीं शरीफ और 30 नवंबर को कार्तिक पूर्णिमा व गुरुनानक जयंती पर अराजक तत्व शांतिभंग कर सकते हैं, इसलिए निषेधाज्ञा की यह कार्रवाई की गई है। इससे पूर्व 15 अक्तूबर को निषेधाज्ञा का आदेश जारी करते हुए 25 नवंबर तक इसे लागू किया गया था।

Mahendra Pratap Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned