हर मरीज पर नजर रखने को लखनऊ में बनेगा हाईटेक स्टेट कोविड कॉल सेंटर

राजधानी में हाईटेक स्टेट कोविड कॉल सेंटर की स्थापना की जा रही है। 18 अगस्त को राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन ने सेवा प्रदाता एजेंसी के लिए टेंडर जारी कर दिए हैं। 60 सीटों वाला सेंटर 24 घंटे संचालित होगा।

By: Mahendra Pratap

Published: 23 Aug 2020, 06:17 PM IST

लखनऊ. यूपी में कोरोना पाजिटिव मरीजों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। प्रदेश के मुख्यमंत्री सीएम योगी और उनकी टीम इस समस्या का सामना करने के लिए रोजाना कोई न कोई नया उपाय लेकर आते हैं। पर पिछले दिनों कुछ ऐसे कोरोना के मरीज सामने आए जिनमें कोरोना लक्षण नहीं मिले फिर भी संक्रमित मिले। ऐसे में होम आइसोलेशन का बढऩा तय है। ऐसे मरीजों पर नजर रखने के लिए राजधानी में हाईटेक स्टेट कोविड कॉल सेंटर की स्थापना की जा रही है। 18 अगस्त को राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन ने सेवा प्रदाता एजेंसी के लिए टेंडर जारी कर दिए हैं। 60 सीटों वाला सेंटर 24 घंटे संचालित होगा।

विशेषज्ञों का दावा है कि कोरोना के कुल मामलों में 80 फीसद माइल्ड आ रहे हैं। इनमें 44 फीसद एसिम्प्टोमेटिक होते हैं, जो होम आइसोलेशन चयन कर रहे हैं। इन मरीजों की बढ़ती तादात, उपचार और निगरानी बड़ी चुनौती साबित हो रही है। इसी से निपटने और कोरोना का प्रसार रोकने के लिए स्टेट कॉल सेंटर की स्थापना का निर्णय लिया गया है। हर जिले में कोविड इंटीग्रेटेड सेंटर बन गए हैं। ये स्टेट वाले सेंटर से जुड़ेंगे। ऐसे में होम आइसोलेशन वाले मरीजों का पूरा ब्योरा साझा होगा। स्टेट सेंटर से मरीजों को कॉल कर तबीयत की जानकारी ली जाएगी। उन्हें वीडियो कॉलिंग के जरिए होम आइसोलेशन के मानक, कोविड प्रोटोकॉल का पालन भी सुनिश्चित किए जाएंगे। चिकित्सकीय परामर्श के लिए डॉक्टरों का पैनल भी होगा।

फिर आए रिकॉर्ड 5423 नए मामले

यूपी में रविवार को एक बार फिर रिकॉर्ड 5423 नए कोरोना मामले सामने आए हैं जिसके साथ ही कुल संक्रमितों की संख्या 187781 पहुंच गई है। इनमें 49242 मरीजों का इजाल जारी है। यूपी में कोरोना ने अगस्त में जो रफ्तार पकड़ी तो उसकी चपेट में मंत्री से लेकर संतरी सभी आए। कमला रानी व चेतन चौहान जैसे यूपी के कैबिनेट मंत्रियों का इस दौरान निधन हो गया। आंकड़ों पर नजर डालें, तो केवल अगस्त माह (जो अभी खत्म भी नहीं हुआ है) में यूपी में 102520 नए मरीज सामने आ चुके हैं, तो 1296 की जान जा चुकी है। 31 जुलाई तक 85,261 लोग यूपी में संक्रमित थे, तो वहीं 23 अगस्त तक यह संख्या बढ़कर 187781 पहुंच गई है। जुलाई तक 1,630 लोग कोरोना से अपनी जान गवां चुके थे। अब मृतकों का यह आंकड़ा 2926 पहुंच गया है। हालांकि इस माह रिकवरी का प्रतिशत बढ़कर 72.21 हो गया है। यदि नए मामले में तेजी से इजाफा हुआ तो 86950 मरीज इस माह जल्द स्वस्थ होकर डिस्चार्ज भी हुए, जो कुछ राहत की बात भी है। प्रदेश में ज्यादा से ज्यादा टेस्टिंग पर भी जोर दिया जा रहा है। यूपी में स्वास्थ्य विभाग की ओर से अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि शनिवार को प्रदेश में 1,30,445 सैंपल्स की जांच की गई है। यह एक दिन में अब तक किसी भी प्रदेश द्वारा किए गए सबसे ज्यादा टेस्ट हैं। अब तक प्रदेश में कुल 45,51,619 सैंपल्स की जांच की जा चुकी है।

Mahendra Pratap Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned