उत्तर प्रदेश में 20 कोरोना वायरस पॉजिटिव, एयरपोर्ट पर यात्रियों के हाथों पर लगाई जा रही है मुहर

लखनऊ में कोरानवायरस धीरे-धीरे बढ़ रहा है। गुरुवार को कोरोनावायरस पॉजिटिव के दो मरीजों को केजीएमयू में भर्ती कराया गया। इसमें एक लखनऊ निवासी यूके और दूसरा लखीमपुर खीरी का रहने वाला, कुछ दिन पहले टर्की से घूमकर आए थे। इन दो कोरोनावायरस पॉजिटिव मरीजों के साथ लखनऊ में कुल संख्या पांच हो गई है। और उत्तर प्रदेश में कोरोनावायरस पॉजिटिव की कुल संख्या 20 हो गई है।

By: Mahendra Pratap

Published: 19 Mar 2020, 05:45 PM IST

लखनऊ. लखनऊ में कोरानवायरस धीरे-धीरे बढ़ रहा है। गुरुवार को कोरोनावायरस पॉजिटिव के दो मरीजों को केजीएमयू में भर्ती कराया गया। इसमें एक लखनऊ निवासी यूके और दूसरा लखीमपुर खीरी का रहने वाला, कुछ दिन पहले टर्की से घूमकर आए थे। इन दो कोरोनावायरस पॉजिटिव मरीजों के साथ लखनऊ में कुल संख्या पांच हो गई है। और उत्तर प्रदेश में कोरोनावायरस पॉजिटिव की कुल संख्या 20 हो गई है। अमौसी एयरपोर्ट में विदेश से आए करीब 24 यात्रियों को होम क्वारंटाइन किया गया, और 4 मार्च तक घर से न निकलने की हिदायत दी गई। ऐसा ही सख्ती फर्रुखाबाद में नेपाल से तीर्थयात्रा कर लौटे 81 और बहराइच में विदेश से लौटे 61 लोगों के संग किया गया। प्रदेश में कई शहरों में कोरोनावायरस के भर्ती संदिग्ध मरीज अस्पताल से डर का भाग गए। पर अब सरकार के नियमानुसार धारा 189 के तहत कार्रवाई होगी और उन्हें भारी जुर्माना भरना होगा। कोरोना की वजह से जहां मुस्लिम धर्मगुरुओं और नेताओं ने एडवाइजरी जारी की है। वहीं अयोध्या में होने वाली रामोत्सव में न शोभायात्रा निकलेगी, न भीड़ जुटेगी। कहा गया कि सभी श्रद्धालु घर में ही रामलला का बर्थडे बनाएं।

गुरुवार सुबह को कोरोना वायरस से संक्रमित दो और मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इनमें एक मरीज निशातगंज का निवासी है, जबकि दूसरा लखीमपुर का रहने वाला है। दोनों मरीजों को फिलहाल केजीएमयू में भर्ती कराया गया है। लखनऊ के निशातगंज निवासी मरीज कुछ दिनों पहले यूके से लौटा था। लखीमपुर खीरी निवासी मरीज टर्की से घूमकर आया था। वापस आने के बाद ही दोनों में कोरोना वायरस के लक्षण पाए गए थे, गुरुवार सुबह जांच रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई। इन्हें मिलकर लखनऊ में कोरोनावायरस के कुल पांच मरीज हो गए हैं। कोरोनावायरस के उत्तर प्रदेश में गुरुवार तक 19 पॉजिटिव मरीज सामने आए हैं। इनमें आगरा के आठ, गाजियाबाद के दो, नोएडा के चार, लखनऊ के पांच मरीज शामिल हैं।

नई टीम को सौंपी जिम्मेदारी :- लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज में कोरोना से संक्रमित मरीजों के इलाज में लगी डॉक्टर्स की टीम के दो सदस्यों में कोरोना से संक्रमण के लक्षण मिले हैं। इस टीम के सभी सदस्यों को फिलहाल चिकित्सकीय निगरानी में रखा गया है। वहीं संदिग्ध दोनों चिकित्सकों को आइसोलेशन वॉर्ड में भर्ती कराया गया है। और पुरानी टीम को बदलकर नई टीम को कोरोनावायरस के मरीजों के देखभाल की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

डॉक्टरों की छुट्टियां रद्द :- केजीएमयू प्रशासन ने सभी डॉक्टरों और प्रोफेसरों की छुट्टियां रद्द कर दी हैं। लगातार कोरोना पॉजिटिव मरीजों की बढती संख्या को देखते हुए यह फैसला लिया गया है। सभी को ऑन कॉल 24 घंटे तैयार रहने के लिए कहा गया। महामारी से निपटने के लिए उन्हें कभी भी बुलाया जा सकता है।

हाथों पर लगाई जा रही है मुहर :- कोरोनावायरस के केसों में लगातार वद्धि को देखते हुए लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट पर चौकसी और बढ़ा दी गई है। विदेश से आए करीब 24 यात्रियों को 4 मार्च तक घर से न निकलने की चेतावनी दी गई है। अमौसी एयरपोर्ट पर आने वालों लोगों पर खास नज़र रखी जा रही है। साथ ही क्वारंटाइन किए गए लोगों के हाथों पर मुहर लगाई जा रही है, जिसमें लिखा है "मुझे अपने देशवासियों को कोरोना मुक्त रखने पर गर्व है।"

फर्रुखाबाद 81 तीर्थयात्रियों को हिदायत :- उत्तर प्रदेश में कोरोना का खौफ लोगों को सिर चढ़कर बोल रहा है। स्वास्थ्य महकमा हर जिले में संदिग्धों पर पैनी नजर रख रहा है। फर्रुखाबाद जिले से नेपाल की धार्मिक यात्रा से लौटे 81 लोगों को क्वॉरेंटाइन कर दिया गया है। जिलाधिकारी मानवेंद्र सिंह के मुताबिक, एक गांव के 81 लोग नेपाल से लौट कर आए हैं। शासन के आदेश पर सतर्कता बरतते हुए इन लोगों को गांव के ही एक कॉलेज में शिफ्ट किया गया है, जहां सभी 14 दिनों की निगरानी में रहेंगे। इन्हें वहां से बाहर न निकलने की हिदायद दी गई है। स्वास्थ्य विभाग इनकी निगरानी करेगा।

तीन कोरोना संदिग्ध आइसोलेशन वार्ड से फरार :- उत्तर प्रदेश के मथुरा और बलिया से एक-एक कोरोना संदिग्ध मरीज जांच होने से पहले ही जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड से फरार हो गया है। मथुरा में भी एक व्यक्ति कुछ दिन पहले विदेशी पर्यटकों के साथ मुम्बई से मथुरा पहुंचा था। उसकी तबीयत खराब होने के कारण उसको निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इसकी जांच के दौरान उसमें कोरोना वायरस के लक्षण मिले थे। इसके बाद जब टीम जांच के लिए निजी अस्पताल पहुंची तो वह संदिग्ध फरार हो गया है। फिलहाल स्वास्थ्य विभाग के साथ ही पुलिस की टीम उसकी तलाश में लगी है। वहीं मिर्जापुर में अस्पताल से भागे कोरोना संदिग्ध को पकड़ लिया गया और आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर दिया गया।

घर में ही मनाया जाएगा रामलला का बर्थडे :- कोरोना के चलते प्रदेश भर में धार्मिक कार्यक्रम रद्द कर दिए गए हैं। तो वहीं मंदिरों में श्रद्धालुओं के दर्शन पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है। इसी के साथ ही रामोत्सव में निकाली जाने वाली शोभायात्रा को भी रद्द कर दिया है। ऐसे में शोभायात्रा और जुलूस नहीं निकाला जाएगा। बल्कि अब यूपी के 50 हजार घरों व देश के तीन लाख गांवों में मर्यादित तरीके से रामोत्सव मनाया जाएगा। इसको लेकर विहिप के प्रदेश संगठन मंत्री अंबरीश सिंह ने केंद्रीय टोली के निर्देश पर देश भर के जिलों को परिवर्तित कार्यक्रम का संदेश दे दिया है। इसके तहत अब रामोत्सव में न ही किसी प्रकार की शोभायात्रा निकाली जाएगी व न ही भीड़ जुटेगी।

रामोत्सव पूरे देश में 25 मार्च चैत्र प्रतिपदा से 8 अप्रैल हनुमान जयंती तक मनाया जाएगा। विहिप के निर्देशानुसार बेहद कम संख्या में जगह-जगह गोष्ठियां कर उसमें राममंदिर निर्माण का विषय उठाया जाएगा। सामूहिक आरती के कार्यक्रम संपन्न होंगे। घरों मेें भगवा ध्वज लगाकर देश भर में धार्मिक अनुष्ठानों के माध्यम से रामोत्सव के कार्यक्रम को राममय बनाने की योजना है।

विहिप के प्रांतीय मीडिया प्रभारी शरद शर्मा का कहना है कि अनुष्ठानों के क्रम में हनुमान चालीसा, नवाह्न पारायण, मानस पाठ आदि के कार्यक्रम किए जाएंगे। रामोत्सव के आयोजन में जगह-जगह गोष्ठियां कर राममंदिर आंदोलन की चर्चा की जाएगी। हालांकि कोरोना के चलते इन गोष्ठियों का स्वरूप छोटा होगा। गोष्ठियों में कारसेवकों का सम्मान होगा।

Corona virus coronavirus
Show More
Mahendra Pratap Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned