scriptLucknow Development Authority transport nagar vyapar mandal associatio | LDA के नये आदेश से ट्रांसपोर्टरों में नाराजगी, नामांतरण छोड़कर बाकी समस्त कार्यवाही एवं फ्री होल्ड पर रोक बरकरार | Patrika News

LDA के नये आदेश से ट्रांसपोर्टरों में नाराजगी, नामांतरण छोड़कर बाकी समस्त कार्यवाही एवं फ्री होल्ड पर रोक बरकरार

राजधानी लखनऊ के ट्रांसपोर्ट नगर मामले में LDA के अधिकारियों का खेल बदस्तूर जारी है। LDA वीसी अक्षय त्रिपाठी के मौखिक आदेश जिसमें फ्रीहोल्ड के अलावा बाकी समस्त कार्य को शुरू करने के लिए था, के बावजूद गुरुवार को केवल नामांतरण शुरू करने का आदेश दिया गया। जबकि बाकी समस्त कागजी कार्रवाई एवं फ्रीहोल्ड पर रोक जारी है ।

लखनऊ

Published: November 26, 2021 11:05:24 pm

लखनऊ. राजधानी के ट्रांसपोर्ट नगर मामले में LDA के अधिकारियों का खेल बदस्तूर जारी है। LDA वीसी अक्षय त्रिपाठी के मौखिक आदेश जिसमें फ्रीहोल्ड के अलावा बाकी समस्त कार्य को शुरू करने के लिए था, के बावजूद गुरुवार को केवल नामांतरण शुरू करने का आदेश दिया गया। जबकि बाकी समस्त कागजी कार्रवाई एवं फ्रीहोल्ड पर रोक जारी है ।
transport_nagar.jpg
दरअसल LDA वीसी ने हाल ही में ट्रांसपोर्ट नगर व्यापार मंडल एवं वेयर हाउस ओनर्स एसोसिएशन के साथ मुलाकात में ट्रांसपोर्ट नगर मे लंबित समस्‍त कार्यवाहियों, फ्री-होल्‍ड सहित पुन: चालू करने एवं दोनों समितियों की शीघ्र बैठक कराकर ट्रांसपोर्ट नगर के मामलों का निस्‍तारण करवाने का निर्देश दिया था। जिससे ट्रांसपोर्ट नगर के कारोबारियों में खुशी की लहर दौड़ गई थी।
मगर अब एक नया आदेश ज्ञानेंद्र वर्मा अपर सचिव लखनऊ विकास प्राधिकरण ने जारी किया है। जिससे ट्रांसपोर्ट नगर के व्यापारियों में बेहद नाराजगी है। आदेश में नामांतरण छोड़कर समस्त कागजी कार्यवाही एवं फ्री होल्ड पर रोक बरकरार बताते हुए एलडीए अधिकारियों ने कहा है कि बाकी सारी कागजी कार्रवाई के संबंध में आने वाले समय में निर्णय लिया जाएगा।
ट्रांसपोर्ट नगर व्यापार मंडल एवं वेयर हाउस ओनर्स एसोसिएशन के प्रवक्ता राजनारायण सिंह ने पत्रिका से बातचीत में कहा कि जो आदेश एलडीए के अधिकारीयों को अक्षय त्रिपाठी ने हमारे सामने दिया था, उसका अनुपालन अधिकारियों द्वारा नहीं किया जा रहा है। वही ट्रांसपोर्ट कारोबारियों ने एलडीए अधिकारियों पर कई आरोप भी लगाए। उनका कहना है कि एलडीए अधिकारी ट्रांसपोर्ट नगर के कारोबारियों में डर का माहौल पैदा कर रहे हैं।
राजनारायण ने कहा कि जिस के संबंध में विधिक राय भी आ चुकी है, उसके बावजूद प्राधिकरण के अधिकारियों द्वारा ऐसा किया जाना अनैतिक व अवैधानिक है। जिस प्रकार नामांतरण से रोक हटाने के लिए उपाध्यक्ष से आज स्वकृति लेकर आदेश जारी किया है उसी प्रकार फ्री होल्ड को छोड़कर पहले से की जा रही समस्त कागजी कार्रवाईओं को चालू किया जा सकता था, लेकिन ऐसा नहीं किया गया क्यों?

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.