Hindi Diwas 2021 : सोशल मीडिया पर छाया अपनी मीठी हिंदी का जादू

Hindi Diwas Best wishes - 14 सितम्बर का दिन हर हिंदी भाषी के लिए गर्व का दिन है। आज पूरे जोर शोर के साथ हिंदी दिवस मनाया जाता है।

By: Sanjay Kumar Srivastava

Published: 14 Sep 2021, 07:25 AM IST

लखनऊ. Hindi Diwas Best wishes 14 सितम्बर का दिन हर हिंदी भाषी के लिए गर्व का दिन है। आज पूरे जोर शोर के साथ हिंदी दिवस मनाया जाता है। जहां पहले हिंदी का दायरा बहुत छोटा था आज सोशल मीडिया (social media) की वजह से अपनी हिंदी का जादू पूरी दुनिया में छा गया है। एसएमएस, ट्विटर, फेसबुक, वाट्सएप, इंस्ट्राग्राम, गेमिंग, माइक्रो ब्लॉगिंग साइट्स और ब्लॉगिंग सब पर हिंदी का नशा छाया हुआ है। खालिस हिंदी अब थोड़ा कम बोला जाता है पर सोशल मीडिया की नई जुबान हिंदी (sweet hindi) में अब उर्दू, फारसी, मराठी, संस्कृत, अंग्रेजी के अतिरिक्त विदेशी भाषा के भी शब्द शामिल हो रहे हैं। मतलब हिंदी की वजह से गांव का आदमी सोशल मीडिया से डायरेक्ट जुड़ रहा है।

बेतक्कलुफी संग दीजिए हिंदी में आर्डर :- अब अगर इसके पीछे के कारण देखें तो अपनी विशाल जनसंख्या इस कमाल की वजह है। हिंदी पर हम क्यों न गर्व करें। जब हिंदी का इस्तेमाल वेब एड्रेस बनाने में किया जाता है। अब हर साल हिंदी के कुछ शब्द ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी शामिल होते हैं। और अब गूगल हो, फेसबुक बिना हिंदी को साथ लिए काम नहीं चल सकता है। अमेजन, फिल्पकार्ट, नेट फिल्क्स ने भी हिंदी अपना लिया है। अब आप अपने आर्डर बड़ी बेतक्कलुफी के साथ हिंदी में दे सकते हैं।

दुनिया में 66 करोड़ लोग बोलते हैं मीठी हिंदी :- हिंदी के जुड़े कुछ आंकड़ों पर गौर करेंगे तो पाएंगे कि, आपकी मीठी जुबान हिंदी कितनी ताकतवर है। दुनिया में करीब 66 करोड़ लोग हिंदी भाषा का इस्तेमाल करते हैं। महात्मा गांधी ने हिंदी को जनमानस की भाषा कहा था और इसे देश की राष्ट्रभाषा भी बनाने को कहा था। पर इसे राष्ट्रभाषा का दर्जा नहीं मिला।

पहला हिंदी दिवस वर्ष 1953 में मनाया गया :- भारत के पास अपनी कोई राष्ट्रभाषा नहीं है। पर संविधान सभा ने 14 सितंबर 1949 को हिंदी को भारत की राजभाषा बनाने का ऐलान किया था। पहला हिंदी दिवस 14 सितंबर 1953 को मनाया गया, तब से हर साल हिंदी दिवस मनाया जाता है। हिंदी को बढ़ावा देने के उद्देश्य से सभी सरकारी कार्यालयों में अंग्रेजी के स्थान पर हिंदी का उपयोग करने की सलाह दी जाती है। हिंदी दिवस पर राष्ट्रभाषा कीर्ति, राष्ट्रभाषा गौरव पुरस्कार दिया जाता है। वैसे तो हर साल 10 जनवरी को विश्व हिंदी दिवस भी मनाया जाता है।

प्रसंगवश: सम्भल कर, कहीं हिंदी भाषा हिंग्लिश में न बदल जाए

Sanjay Kumar Srivastava
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned