पुलिसकर्मियों पर कोरोना वायरस का खतरा बढ़ा, मुरादाबाद के बाद अब लखनऊ में 55 पुलिसकर्मी किए गए क्वारंटाइन

जोखिम भरे हालात काम कर रहे पुलिसकर्मी
मुरादाबाद के बाद अब लखनऊ में 55 पुलिसकर्मी किए गए क्वारंटाइन
हॉटस्पॉट एरिया में तैनात थे ये 55 पुलिसकर्मी
मुरादाबाद में 73 पुलिसकर्मी क्वारंटाइन

By: Mahendra Pratap

Published: 23 Apr 2020, 03:46 PM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस के कदम तेजी से बढ़ रहे हैं। तबलीगी जमात की नासमझी की वजह से उत्तर प्रदेश में अचानक कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्तियों की बाढ़ लग गई। करीब 52 जिलों में 322 हॉटस्पॉट चिन्हित किए गए। पर अब बात कुछ और सीरियस हो गई है। मुरादाबाद के बाद अब लखनऊ में पुलिसकर्मियों पर कोरोना संक्रमण का खतरा मंडरा रहा है। हॉटस्पॉट पर ड्यूटी से लौटे 55 पुलिसकर्मियों को क्वारंटाइन कर दिया गया और इनके स्थान पर दूसरे पुलिसकर्मियों को ड्यूटी पर भेजा गया। बुधवार सचिवालय में उस समय हड़कंप मच गया जब राज्य सम्पत्ति विभाग के समीक्षा अधिकारी की अचानक सांस फूलने लगी। तबीयत बिगडऩे पर तत्काल उन्हें केजीएमयू भेजा गया। नमूना लेकर जांच को भेजने के साथ ही डाक्टरों ने उन्हें सात दिन क्वारंटाइन में रहने का परामर्श दिया है। अलीगढ़ में मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए जिसके बाद पूरा परिवार क्वारंटाइन हुआ।

इन घटना से साफ है पुलिसकर्मी इन दिनों बेहद जोखिम भरे हालात में काम कर रहे हैं। इन पर ना सिर्फ लॉकडाउन को लागू करने का जिम्मा है बल्कि खुद को कोरोना वायरस से बचाए रखने की भी चुनौती है।

प्रदेश में पुलिसकर्मियों ही नहीं तमाम उन लोगों पर कोरोना संक्रमण का खतरा मंडरा रहा है, जो हॉटस्पॉट इलाकों,कोरोना वायरस पाजिटिव मरीजों की देखभाल या अपनी ड्यूटी कर रहे हैं। राजधानी लखनऊ के हॉटस्पॉट एरिया कसाईबाड़ा, नजीराबाद व अन्य स्थानों पर ड्यूटी से लौटे 55 पुलिसकर्मियों को क्वारंटाइन कर दिया गया। इनके स्थान पर दूसरे पुलिसकर्मियों को ड्यूटी पर भेजा गया। सभी 55 पुलिसकर्मियों को पुलिस लाइन में क्वारंटाइन किया गया है। इनमें पुलिस लाइन के किचन के कुछ कर्मचारी को भी क्वारंटाइन किए गए हैं। पुलिस लाइन के किचन में शामिल पुलिसकर्मी हॉटस्पॉट इलाके में तैनात पुलिसकर्मियों को खाना पहुंचाते थे।

मुरादाबाद में 73 पुलिसकर्मी क्वारंटाइन :- मुरादाबाद के नागफनी थाने के तकरीबन सभी 73 पुलिसकर्मियों को बुधवार को अलग-अलग होटलों में क्वारंटाइन किया गया है। मामला 15 अप्रैल का है जब कोरोना पॉजिटिव मृतक के परिजनों को क्वारंटाइन करने पहुंची स्वास्थ्य विभाग और पुलिसकर्मियों की टीम पर अचानक जानलेवा हमला हुआ था और छतों से पथराव किया गया था। इस हमले के 17 आरोपियों को पुलिस थाने लेकर आई थी। उनमें से पांच आरोपी कोरोना पॉजिटिव पाए गए। इसके बाद इनके संपर्क में आने वाले थाना प्रभारी समेत सभी 73 पुलिसकर्मियों को अलग-अलग होटलों में क्वारंटाइन कर दिया गया है। सभी पुलिसकर्मियों का कोरोना टेस्ट भी कराया जा रहा है। मुरादाबाद के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. एमसी गर्ग ने बताया कि शहर में 73 पुलिसकर्मियों को अलग-अलग होटलों और लॉज में क्वारंटीन किया गया है।

सचिवालय में समीक्षा अधिकारी क्वारंटाइन:- सचिवालय में बुधवार को हड़कंप मच गया, जब राज्य सम्पत्ति विभाग के समीक्षा अधिकारी की अचानक सांस फूलने लगी। तबीयत बिगड़ने पर तत्काल उन्हें केजीएमयू भेजा गया। जहां सैम्पल लेकर डाक्टरों ने उन्हें सात दिन क्वारंटाइन में रहने का परामर्श दिया है। इसके बाद सचिवालय के दूसरे अधिकारी व कर्मचारी भी चिंतित हो गए। उप्र सचिवालय संघ के अध्यक्ष यादवेंद्र मिश्रा ने आरोप लगाया कि यहां लॉकडाउन में कार्यालय खोलने के निर्देशों का उल्लंघन किया गया और सभी अनुभागों में ज्यादा संख्या में कर्मचारी और सभी समीक्षा अधिकारी बुलाए जा रहे हैं।

अलीगढ़ डाक्टर कोरोना पाजिटिव :- अलीगढ़ के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज में तैनात एक सर्जिकल डॉक्टर की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आने के बाद स्वाथ्य विभाग और जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया। डॉक्टर को आइसोलेशनवार्ड में एडमिट कर उनका इलाज किया जा रहा है। साथ ही डॉक्टर के पूरे परिवार को भी क्वारंटाइन कर दिया गया है। जिलाधिकारी चंद्र भूषण ने डॉक्टर में संक्रमण की पुष्टि करते हुए कहा कि डॉक्टर व उनके परिवार को आइसोलेट किया जा रहा है।

Corona virus coronavirus
Show More
Mahendra Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned