लखनऊ महोत्सव में दिखी ऐसी क्रिएटिविटी, सीढ़ियों पर चढ़ने से बनेगी बिजली

विझान पवेलियन लखनऊ महोत्सव 2018 में आनंद अपनी ऐसी उपलब्धी लेकर आए, जिसको लेकर उन्होंने पेटेंट करवाने के लिए प्रक्रिया शुरू कर दी है।

By: Mahendra Pratap

Updated: 30 Jan 2018, 04:36 PM IST

लखनऊ. प्रदेश में पहली बार मनाए गए यूपी दिवस की रौनक को लोग अभी भूल भी नहीं पाए थे कि अब लखनऊ महोत्सव उनके लिए नए रंग लेकर आया है। इस महोत्सव में कई स्टॉल्स लगाए गए। इन्हीं में से एक स्टॉल है आनंद पाण्डेय का, जो यहां कुछ नया और कुछ इनोवेटिव ले कर आए।विझान पवेलियन लखनऊ महोत्सव 2018 में आनंद अपनी ऐसी उपलब्धी लेकर आए, जिसको लेकर उन्होंने पेटेंट करवाने के लिए प्रक्रिया शुरू कर दी है। इन्होंने सीढ़ी का मॉडल बनाया जिस पर चढ़ने से बिजली उत्पादन होती है।

ये बात जितनी अलग लगती है उतनी ही अनोखी भी। इस सीढ़ी पर अगर कोई एक बार में 100 बार चढ़ता है, तो पूरे 200 स्टेप्स में 30 एमपीयर की 12 बोल्ट की बैट्री दो बार चार्ज होगी। ये बैट्री दो दिन चलती है। आनंद ने सीढ़ी का उपयोग बिजली उत्पादन के लिए बहुत ही बेहतरीन तरीके से किया है।

आनंद की एजुकेशन

सुल्तानपुर के रहने वाले आनंद ने डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम यूनिवर्सिटी से इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन में बीटेक किया है।

मुख्यमंत्री से अवॉर्ड बना लाइफ का टन्रनिंग प्वाइंट

आनंद की लाइफ में टर्निंग प्वाइंट तब आया, जब उन्हें मुख्यमंत्री से 'ग्रीन एनर्जी जनरेशन फ्रॉम स्पीड ब्रेकर' (Green Energy Generation from Speed Breaker) प्रोडेक्ट के लिए अवॉर्ड मिला। उन्होंने अपना पहला प्रोजेक्ट मेट्रो रेल पर बनाया था, जिसे काउंसिल ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी फेस्ट में शामिल किया गया था। उनकी काबिलीयत का किस्सा सिर्फ यहीं खत्म नहीं होता। आनंद ने कई रोबोटिक प्रोजेक्टस भी बनाए हैं। टैलेंट से भरपूर आनंद की क्रिएटीविटी सरकार को भी इतनी भा गई कि 2010 में उन्हें मेंबर ऑफ पार्लियामेंट की ओर से आयोजित किया गया रोबो कॉम्पटीशन में फर्स्ट प्राइज से नवाजा गया था।

क्रिएटीविटी की भरमार हैं आनंद

आनंद ने इन प्रोजेक्टस के आलावा कई सारे मॉडल्स बनाए हैं। उन्होंने न्यूटन के थर्ड लॉ पर आधारित 'पॉवर जनरेटेड एयर कार' और 'ब्लड सर्कुलेटरी मसाजर पॉजिटिव मशीन' मॉडल्स भी बनाए हैं। इन सभी मॉडल्स को पेटेंट करवाना है।

शौक है बड़ी चीज

कुछ क्रिएटिव हर किसी को करते रहना चाहिए। इससे आपकी पोटेंशियल का पता लगता है। इस तरह के इनोवेटिव आइडियाज पर काम करने के अलावा आनंद को कविताएं लिखना, क्रिकेट खेलना और किताबें पढ़ने का शौक है।

Mahendra Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned