बेरोजगारों को उनके मोबाइल पर मिलेगी नौकरी, मैन पॉवर सप्लाई ऐप लांच करने जा रही योगी सरकार

सीएम योगी ने शीघ्र अति शीघ्र मैन पॉवर सप्लाई ऐप बनाने का निर्देश
स्किल के हिसाब से नौकरी का आएगा प्रस्ताव

By: Mahendra Pratap

Published: 14 Jun 2020, 12:23 PM IST

लखनऊ. कोरोना संक्रमण के बाद लगे लॉकडाउन में उत्तर प्रदेश में करीब 35 लाख कामगार और श्रमिकों की घर वापसी हुई है। यूपी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इन कुशल कामगार और श्रमिकों के रोजगार के लिए कई योजनाएं बनाई हैं। करीब 23 लाख श्रमिकों की स्किल मैपिंग का काम पूरा हो चुका है। और यह अभी भी जारी है। श्रमिकों के टैलेंट के अनुसार औद्योगिक विकास और एमएसएमई सेक्टर में उन्हें रोजगार दिलाने का प्रयास किया जा रहा है। उद्योगों और सेवा प्रदाता संगठनों को मैन पावर तलाशने में दिक्कत न हो इसलिए सीएम योगी ने शीघ्र अति शीघ्र मैन पॉवर सप्लाई ऐप बनाने का निर्देश दिया है। इस ऐप के जरिए बेरोजगारों को उनके मोबाइल पर उनके स्किल के हिसाब से नौकरी का प्रस्ताव आएगा और वे अपनी मनपसंद नौकरी का चुन सकेंगे।

श्रमिक-कामगारों के रोजगार पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनकी टीम 11 ने आपसी चर्चा के बाद यह सहमति बनी कि मोबाइल ऐप बनाया जाए जिससे श्रमिक-कामगारों को रोजगार मिलने में आसानी रहे वहीं नौकरी देने वाली कम्पनियां भी अपनी आवश्यकतानुसार मजदूरों व कुशल कामगारों का चायन कर सकें। मुख्यमंत्री योगी ने औद्योगिक विकास और एमएसएमई विभाग के अधिकारियों से कहा कि रोजगार की हर संभावना तलाशी जाए। साथ ही उद्योगों और सेवा प्रदाता संगठनों को मैन पावर सप्लाई करने के लिए एक मोबाइल ऐप तैयार शीघ्र तैयार किया जाए।

मानव संसाधन उद्योग जगत की रीढ़ :- मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि मानव संसाधन उद्योग जगत की रीढ़ है। यही रीढ़ अब बड़ी संख्या में श्रमिक के रूप में प्रदेश में उपलब्ध है। श्रमिकों ने अपने पसीने से समाज व राष्ट्र का निर्माण किया है। प्रदेश में आए कामगारों और श्रमिकों के श्रम से अब उत्तर प्रदेश का नव-निर्माण होगा। मुख्यमंत्री ने इस बात पर बल दिया कि कामगार-श्रमिकों की सामाजिक और आर्थिक सुरक्षा की दिशा में काम किया जाए। इन्हें बीमा कवर अवश्य उपलब्ध हो।

16.6 लाख लोग अनस्किल्ड लेबर :- सरकारी आंकड़ों के अनुसार 23.5 लाख लोगों में से 16.6 लाख लोग अकुशल श्रमिक (अनस्किल्ड लेबर) हैं जो मजदूरी छोड़कर वापस आए हैं। सरकार की ओर 94 कैटेगरियों में इनकी स्किल मैपिंग की गई है, ये आंकड़े 2 जून तक के हैं। इंडियन इंडस्ट्री एसोसिएशन, नरडेको, सीआईआई और यूपी सरकार के बीच साइन एमओयू से प्रदेश में 11.50 लाख श्रमिकों और कामगारों को फायदा मिलने की उम्मीद है।

coronavirus
Show More
Mahendra Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned