लखनऊ मेट्रो Official ऐप के लॉन्च से पहले ही ये 16 क्लोन एप्स बनीं खतरा

लखनऊ मेट्रो Official ऐप के लॉन्च से पहले ही ये 16 क्लोन एप्स बनीं खतरा

Dikshant Sharma | Publish: Nov, 15 2017 11:01:20 AM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

16 एप्स को 30 हज़ार लोग कर चुके हैं डाउनलोड

लखनऊ. कहते है वक्त किसी का इंतजार नहीं करता और समय रहते सही काम ना करना भारी भी पड़ सकता है। ऐसा ही कुछ कहीं लखनऊ मेट्रो के साथ ना हो जाए यह डर अधिकारियों को सताने लगा है। दरअसल लखनऊ मेट्रो जल्द ही अपना ऐप लांच करने जा रही है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दिसंबर अंत तक इसे लांच किया जा सकता है। एप का ट्रायल शुरू हो चुका है। लेकिन इससे पहले कि लखनऊ मेट्रो अपना ऑफिशियल एप लॉन्च करता डुप्लीकेट ऐप्स ने इंटरनेट पर अपनी जगह बना ली है।

16 एप्स को 30 हज़ार लोग कर चुके हैं डाउनलोड
एंड्राइड के प्ले स्टोर पर अब तक लखनऊ मेट्रो से जुड़े लगभग 16 ऐप अपलोड हो चुके हैं। खास बात यह है कि इन ऐप्स को 30 हज़ार से भी अधिक लोग डाउनलोड कर चुके हैं। इसकी भनक जब मेट्रो अधिकारियों को मिली तो उनके माथे पसीना दिखने लगा। दरअसल आईटी एक्सपर्ट का मानना है कि जब जनता के पास 16 ऐप्स पहले से ही मौजूद है तो आखिर लखनऊ मेट्रो की ऑफिशियल एप का इंतजार क्यों करेंगे। यही कारण है कि 30 हज़ार लोगों ने अब तक डाउनलोड भी कर लिया है। इन एप्स के ज़रिये रुट से लेकर फेयर तक की जानकारी मिल सकती है।

इन एप्स में तरह तरह की चीजें देखने को मिल सकती है फिर से लेकर रूट सुविधाएं फीचर्स आदि की जानकारी आप के जरिए मिल रही है

वहीं दूसरी ओर अधिकारियों का तर्क है कि उनका ऐप इन ऍप्स से बेहद खास होगा। उनका कहना है कि ओरिजिनल ओरिजिनल होता है। इसलिए लखनऊ मेट्रो के आपके लॉन्च होने के बाद अन्य एप से असर नहीं पडेगा। मेट्रो डीजीएम (IT) आकाशदीप सहगल ने बताया कि उनके संज्ञान में यह बात है कि कुछ एप्स लखनऊ मेट्रो से जुड़े हुए प्ले स्टोर पर मौजूद हैं। लेकिन फिर भी लखनऊ मेट्रो का एप अन्य एप से कही बेहतर है। इस एप पर मेट्रो से सम्बंधित सभी छोटी बड़ी अपडेट आएंगी। जल्द ही लखनऊ मेट्रो इसका ऑफिशियल इनॉग्रेशन करेगा।

क्या कुछ खास होगा इस एप में
लखनऊ मेट्रो अपनी एप को खास बता रहा है। जो कुछ सुविधाएं लखनऊ मेट्रो की वेबसाइट पर मिल रही हैं वह सब इस एप पर मौजूद होगी। सूत्रों का यह भी कहना है कि ये एप दिल्ली मेट्रो से ख़ास है। एलएमआरसी की एप में फेयर कैलकुलेशन हो सकता है यानी किसी भी स्टेशन के बीच कितना किराया होगा उसका कैलकुलेशन किया जा सकता है। जबकि दिल्ली मेट्रो की एप में सिर्फ यह अंकित है कि कहां से किस स्टेशन तक कितना किराया होगा। इस ऐप के जरिए रेजिस्टरड उजर स्मार्ट कार्ड रिचार्ज भी कर सकेंगे। इस एप पर आप फेसबुक और जीमेल के ज़रिये रजिस्टर हो सकेंगे। आने वाले समय में लखनऊ मेट्रो एप उजर्स को स्पेशल वाउचर देने का भी प्लान बना रहा है।

Ad Block is Banned