नवाबों के शहर में हिन्दू और मुस्लिम ने एक साथ निकाला मुहर्रम का जुलूस

विश्वशांति के उद्देश्य के साथ निकाला गया जुलूस

By: Mahendra Pratap

Updated: 22 Sep 2018, 02:41 PM IST

Lucknow, Uttar Pradesh, India

लखनऊ , ऐसे नहीं पुरे हिन्दुस्थान में नवाबों के शहर लखनऊ की अपनी अलग पहचान हैं। किसी ने खूब कहाकि नदी में गिरने से ,कभी भी किसी की मौत नहीं होती ,मौत तो तब होती है। जब उसे तैरना नहीं आता ,ठीक उसी तरह परिस्थितियाँ कभी भी हमारे लिए, समस्या नहीं बनती। समस्या तो तब बनती हैं। जब हमें परिस्थितियों से निपटना नहीं आता, यक़ीन करना सीखो शक तो सारी दुनिया करती है। कुछ इसी सोच को लेकर राजधानी लखनऊ में दसवीं मोहर्रम का जुलूस निकाला गया। जिसमें गुरु स्वामी सारंग महाराज ने शिया धर्म गुरु मौलाना कल्बे जव्वाद के साथ मिलकर मातम में शिरक़त की और इसके माध्यम से एक सन्देश भी दिया कि हम कभी एक दूसरे पर भरोषा करते जिसका फायदा हमेशा दूसरा उठाता हैं। गुरु स्वामी सारंग कहाकि मेरा यह उद्देश्य हैं कि इस तरह के मिलजुल कर इस भाईचारे को विश्व स्तर पर ले जाना चाहता हूँ और इसके लिए मैं हर संभव कार्य करता रहूगा। जो लोग हमारे धर्म के नाम पर लड़ाते हैं

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned