अब स्मार्ट सिटी में स्कूली बच्चे करेंगे स्मार्ट क्लासेस में पढाई

Dikshant Sharma

Publish: Feb, 14 2018 10:54:11 PM (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
अब स्मार्ट सिटी में स्कूली बच्चे करेंगे स्मार्ट क्लासेस में पढाई

स्मार्ट क्लॉसेस से परीक्षण देने के लिए टीचरों को भी ख़ास किस तरह से स्कूल के शिक्षकों को भी इस दिशा में ट्रेनिंग दी जाएगी।

लखनऊ . फिलहाल स्मार्ट सिटी के लिए राजधानी वासियों को इंतज़ार करना पड़ रहा है लेकिन अब जल्द ही स्कूली छात्रों को सहूलियत मिलेगी। निगम के स्कूलों में पढऩे वाले छात्र भी स्मार्ट हो सकेंगे। दरअसल इनकी पढाई भी स्मार्ट क्लासेस के ज़रिये होगी। सोमवार को पेश हुए बजट में निगम ने 50 लाख स्मार्ट क्लासेस के लिए रखे हैं।

निगम ने अपने स्कूलों में स्मार्ट क्लासेस कान्सेप्ट लाने की तैयारी शुरू कर दी है। इसके साथ ही यह भी प्लानिंग है कि स्मार्ट क्लॉसेस से परीक्षण देने के लिए टीचरों को भी ख़ास किस तरह से स्कूल के शिक्षकों को भी इस दिशा में ट्रेनिंग दी जाएगी।

पहले बजट में 50 लाख
सोमवार को जारी हुए बजट में स्मार्ट क्लासेस के लिए करीब 50 लाख का बजट दिया जाएगा। इसके साथ ही स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट और अन्य योजनाओं में से भी इस कार्य के लिए कुछ राशि का उपयोग किया जाएगा। निगम की ओर से स्मार्ट क्लासेस के लिए पहले चरण में तीन स्कूल चुने गए हैं। इसके लिए अध्यापकों ने निरक्षण भी किया था। अधिकारियों का कहना है कि प्रयास रहेगा कि निगम के सभी स्कूलों में इस व्यवस्था को लागू किया जाए। फिलहाल अमीनाबाद इंटर कॉलेज, कश्मीरी मोहल्ला मॉडल मांटेसरी स्कूल और कश्मीरी मोहल्ला गल्र्स इंटर कॉलेज को चुना गया है। अब जल्द ही इस दिशा में आगे कार्य किये जाएंगे।

नर्सरी क्लास पर होगा फोकस
अधिकारियों का मानना है कि स्मार्ट क्लासेस का कांसेप्ट पहले नर्सरी क्लासों में लाया जाएगा। उसके बाद आगे की क्लास में इस व्यवस्था को लागू किया जाएगा। प्रयास रहेगा कि कक्षा पांच तक की क्लास तक इस व्यवस्था को लागू किया जाए।

क्या होती हैं स्मार्ट क्लासेस
स्मार्ट क्लासेस में ब्लैक बोर्ड के साथ प्रोजेक्टर, साउंड सिस्टम, डिजिटल प्रेजेंटर कंप्यूटर, लैपटॉप, इंटरनेट पर वीडियो की मदद से पढाई होती है।

स्मार्ट सिटी लखनऊ के जीएम एसके जैन ने कहा कि इस सम्बन्ध में कार्य शुरू कर दिए हैं। इसे जल्द से जल्द लागू किया जाएगा। फण्ड की कमी न हो इसलिए ज़रुरत पड़ने पर स्मार्ट सिटी या अन्य योजना का सहारा भी लिया जा सकता है।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned