पहले गृहमंत्री अमित शाह के नाम पर करते थे बात, फिर मंत्री और MLC बनवाने का देते थे झांसा, ऐसे खुला पूरा खेल

लखनऊ पुलिस कमिश्नरेट और क्राइम ब्रांच की टीम ने एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश किया है जो केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) के नाम पर दर्जा प्राप्त मंत्री (Minister), विधान परिषद सदस्य (MLC) बनवाने और विधानसभा (UP Vidhansabha Ticket) का टिकट दिलवाने का झांसा देकर अवैध वसूली करता था।

लखनऊ. लखनऊ पुलिस कमिश्नरेट और क्राइम ब्रांच की टीम ने एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश किया है जो केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) के नाम पर दर्जा प्राप्त मंत्री (Minister), विधान परिषद सदस्य (MLC) बनवाने और विधानसभा (UP Vidhansabha Ticket) का टिकट दिलवाने का झांसा देकर अवैध वसूली करता था। पुलिस ने गिरोह के 4 जालसाजों को भी गिरफ्तार किया है। लखनऊ पुलिस के मुताबिक हजरतगंज कोतवाली और क्राइम ब्रांच की ज्वांट टीम ने उत्तराखंड के उधमसिंह नगर जिले के शमीम अहमद और हसनैन अली, बलिया जिले के हिमांशु सिंह और बरेली जिले के जाने आलम को गिरफ्तार किया। जबकि दो आरोपी शाहिद और बबलू फरार हो गए। पकड़े गए सभी आरोपी 20 से 35 वर्ष के बीच की उम्र के हैं। आरोपियों के खिलाफ हजरतगंज कोतवाली में धोखाधड़ी, साजिश और 66 डी आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है। साथ ही आगे की कार्रवाई की जा रही है।

ऐसे करते थे वसूली

वहीं लखनऊ पुलिस के मुताबिक पकड़े गए आरोपियों ने पूछताछ के दौरान पुलिस को बताया कि वह छोटे स्तर के नेताओं से बड़े-बड़े नेता और उनके निजी सचिव बनकर मोबाइल फोन और वाट्सएप पर बातचीत करके उन्हें विश्वास दिलाते हैं कि उनको मंत्री या एमएलसी बनवा दिया जाएगा या फिर विधानसभा का टिकट दिलवा दिया जाएगा। आरोपियों ने बताया कि वे इस नाम पर लोगों से टोकन मनी लेकर फरार हो जाते थे। पुलिस ने बताया कि आरोपियों द्वारा रीता सिंह से भारत सरकार के गृह मंत्री और उनके निजी सचिव के नाम पर एक करोड़ रुपये टोकन मनी विधान परिषद सदस्य बनवाने व उप्र सरकार में मंत्री बनवाने के नाम पर लेने की कोशिश की जा रहा थी।

मांगी थी एक करोड़ की टोकन मनी

रीता सिंह से फरार अभियुक्त शाहिद ने गृह मंत्री का निजी सचिव बनकर बातचीत की थी, जबकि पकड़े गए हसनैन ने गृह मंत्री अमित शाह बनकर रीता सिंह से बातचीत की और उन्हें टिकट देने का भरोसा भी दिलाया। पुलिस के मुताबिक इसके पहले भी आरोपियों द्वारा एक शख्स से प्रगतिशील समाजवादी पार्टी से आगामी विधानसभा चुनाव में टिकट दिलवाने के नाम पर पार्टी अध्यक्ष शिवपाल यादव बनकर चार लाख रुपये टोकन मनी ले ली गई थी। पुलिस अब सभी आरोपों की जांच कर रही है।

यह भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश के इन 40 लाख लोगों को अब मिलेगा सालाना 5 लाख का मुफ्त इलाज, योगी सरकार का बड़ा फैसला

Amit Shah
नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned