विमान में प्रियंका गांधी व एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह में कहासुनी..!

- प्रियंका गांधी व एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह में कहासुनी..! निश्चित ही चौंकने वाली घटना है। एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह पहले कांग्रेस पार्टी के कद्दवार नेता थे। पर अब भाजपा के रंग में रंग गए हैं।

By: Sanjay Kumar Srivastava

Updated: 04 Oct 2021, 02:35 PM IST

लखनऊ. Priyanka Gandhi Dinesh Pratap Singh verbal fight प्रियंका गांधी व एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह में कहासुनी..! निश्चित ही चौंकने वाली घटना है। एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह पहले कांग्रेस पार्टी के कद्दवार नेता थे। पर अब भाजपा के रंग में रंग गए हैं। रविवार को कांग्रेस महासचिव व यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी और एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह आमने सामने हो गए। और उसके बाद दोनों के चेहरे की रंगत बदलने लगी। हवाई जहाज की सीट के लिए तीखा संवाद हुआ। जिसमें प्रियंका गांधी ने एमएलसी को कहाकि, इतनी जल्द मेरी सीट नहीं ले पाओगे। प्रियंका गांधी और कांग्रेस पार्टी ने तो इस पूरे वाकया पर चुप्पी साधी रखी, पर एमएलसी ने फेसबुक अकाउंट पर अपनी पूरी कहानी कह डाली।

लखीमपुर खीरी हिंसा पर भाजपा सांसद वरुण गांधी का सीएम योगी को पत्र, सीबीआई जांच और एक-एक करोड़ रुपए मुआवजे की मांग

एमएलसी दिनेश सिंह ने फेसबुक पर लिखी अपनी कहानी :- दिल्ली के हवाईअड्डे पर टर्मिनल दो से लखनऊ के लिए रविवार देर शाम इंडिगो की फ्लाइट जानी थी। फेसबुक पर एमएलसी दिनेश सिंह ने लिखा है कि वे एग्जिट रो की 19 सी सीट पर बैठे थे, उनके बगल में 19 बी सीट पर एक बुजुर्ग बैठा था, एमएलसी ने लिखा कि बुजुर्ग बीमार थे और प्लेन की बोर्डिंग पूरी होने वाली थी। वे बुजुर्ग को राहत देने के लिए वे खाली पड़ी 19 डी सीट पर जाकर बैठ गए। कुछ देर में प्रियंका गांधी आईं और बोलीं कि ये सीट मेरी है।

आपकी सीट खतरे में है यही क्या कम है? :- फेसबुक पर एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह लिखा कि, प्रियंका गांधी प्रणाम कर बगल की सीट पर जाने लगे, तब प्रियंका गांधी ने गुस्से में कहा, इतनी जल्दी हमारी सीट नहीं ले पाओगे। इस पर एमएलसी ने जवाब दिया कि आपकी सीट खतरे में है यही क्या कम है?

आचरण पर मुझे यकीन नहीं :- इस विवाद के बाद मैं अपनी सीट पर बैठ गया। हवाई जहाज की परिचारिका आई और बुजुर्ग को आगे की खाली सीट में बैठा दिया। इससे मुझे लगा कि मैंने कोई गलती नहीं की थी। मैं तो एक सामान्य किसान का बेटा हूं। भाजपा का छोटा सा सिपाही हूं, जबकि प्रियंका देश के सबसे बड़े और सबसे अमीर घराने की सदस्य और एक राष्ट्रीय पार्टी की सर्वे सर्वा हैं। उनका आचरण ऐसा होगा मुझे यकीन नहीं होता है।

Sanjay Kumar Srivastava
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned